बिहार सरकार का बड़ा फैसला,जेपी सेतु पर भारी वाहनों के परिचालन पर रोक,गांधी सेतु से बालू लदे ट्रकों की आवाजाही बंद

बिहार सरकार का बड़ा फैसला,जेपी सेतु पर भारी वाहनों के परिचालन पर रोक,गांधी सेतु से बालू लदे ट्रकों की आवाजाही बंद

PATNA: पिछले कई दिनों से महात्मा गांधी से सेतु पर जाम से लोगों को भारी परेशानी का समान करना पड़ रहा है। इसके बाद अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग की अध्यक्षता में वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से महात्मा गाँधी सेतु पुल पर जाम की समस्या से प्रभावी ढंग से निपटने हेतु विभिन्न जिलों के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक के साथ बैठक हुई।

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि पिछले दो दिनों से गांधी सेतु पर जाम की काफी समस्या उत्पन्न हो गई है जिसके निराकरण के लिए आज की यह  बैठक आहूत की गई है। इस समस्या के निराकरण के लिए पटना, वैशाली, सारण तथा भोजपुर जिले को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया गया। वर्तमान में महात्मा गाँधी सेतु पर पूर्वी लेन पर कार्य प्रारम्भ होने के कारण पटना के आसपास जाम की समस्या उत्पन्न हो गयी है। इसके निदान हेतु अपर मुख्य सचिव, पथ निर्माण विभाग द्वारा कुछ सुझाव दिये गये जिससे महात्मा गाँधी सेतु पर वाहनों का दबाव कम हो जाएगा। सभी बिंदुओं पर गहन विमर्श के उपरांत निम्नलिखित निर्णय लिए गए:-

1- जे.पी. सेतु से उत्तर से दक्षिण की ओर खाली भारी वाहनों का परिचालन किया जाएगा। लोडेड भारी वाहन के परिचालन की अनुमति नहीं होगी। जे.पी. सेतु के दोनों छोर से हल्के वाहनों एवं बसों का परिचालन होगा। लोडेड भारी वाहन उत्तर से दक्षिण की ओर पूर्णतः वर्जित रहेंगे। इस संबंध में आवश्यक प्रशासनिक व्यवस्था जिला पदाधिकारी व पुलिस अधीक्षक, सारण एवं पटना सुनिश्चित करेंगे।

2.महात्मा गांधी सेतु पर बालू वाले ट्रक को छोड़कर अन्य सभी भारी वाहनों का परिचालन मान्य होगा। वैशाली की ओर से आनेवाले खाली ट्रक जे.पी. सेतु के माध्यम से पटना में प्रवेश करेंगे।

3- पीपापुल पर दोनों दिशा में हल्के वाहनों का संचालन होगा। रात्रि के समय में भी संचालन हो, इसके लिए पुल एवं एप्रोच रोड  के दोनों तरफ लाइटिंग की पर्याप्त व्यवस्था पुल निर्माण निगम के द्वारा की जाएगी तथा सुरक्षा हेतु आवश्यक व्यवस्था जिला प्रशासन के द्वारा की जाएगी।

4. कोईलवर पुल के निकट NHAI के द्वारा नया पुल बनाया जा रहा है। नवीन पुल पूरा हो चुका है एवं निकट भविष्य में इसका उद्घाटन होना है। यद्यपि NHAI द्वारा आवागमन प्रारम्भ करने में समय लगने की संभावना बतायी गयी है, परन्तु जनहित में इस पर ट्रायल रन के लिए RO NHAI से अनुरोध किया गया तथा  NHAI से सैद्धांतिक सहमति ली गई। 

अपर मुख्य सचिव, पथ निर्माण विभाग द्वारा प्रस्ताव दिया गया कि कोईलवर पुराने पुल को पूरब से पश्चिम की ओर भारी वाहनों के परिचालन के लिए प्रारंभ किया जाए एवं पश्चिम से पूरब से आनेवाले भारी वाहनों के लिए नये पुल का प्रयोग किया जाए। यह भी सहमति बनी कि बालू लदे ट्रकों का परिचालन अनिवार्यतः अरवल-सहार/कोईलवर पुल के माध्यम से छपरा की ओर किया जाएगा। जिला पदाधिकारी, पटना तथा भोजपुर भी इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्था करेंगे।इसके लिए जिला प्रशासन, गया/जहानाबाद की तरफ से आनेवाले बालू वाले ट्रक का परिचालन अरवल की तरफ करना सुनिश्चित करें तथा अरवल से सहार के माध्यम से बालू वाले ट्रक उत्तर बिहार के तरफ जाएंगे।

5. सचिव, परिवहन विभाग द्वारा बताया गया वैशाली में पुल के छोर पर गंगा ब्रिज थाना की व्यवस्था के समरूप गांधी सेतु के दक्षिणी छोर पर, कोईलवर सेतु के पूर्वी छोर पर और जे.पी. सेतु के दोनों छोर पर विशेष ओ0पी0 की आवश्यकता बतायी गयी। जिस पर  अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग द्वारा सैद्धांतिक सहमति प्रदान करते हुए पुलिस मुख्यालय को इस विषय में शीघ्र कार्रवाई का अनुरोध किया गया।

7.  सचिव, परिवहन विभाग द्वारा बताया गया कि कोविड-19 महामारी के पूर्व सामान्यतः बहुत सी इंटरसिटी ट्रेन और लोकल ट्रेन का परिचालन होता था, जिससे छठ पर्व पर आनेवाले श्रद्धालुओं को सहूलियत होती थी। वर्तमान महामारी के संक्रमण के भय से यह व्यवस्था बंद है। ऐसे में यदि छठ पर्व के लिए विशेष रूप से इन लोकल ट्रेनों का परिचालन किया जाता है तो इससे जनसामान्य को सुविधा होगी। इस पर भी सहमति प्रदान करते हुए आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग द्वारा सचिव, परिवहन को दिया गया।

8 यह भी प्रस्तावित किया गया कि एम्स-दीघा एलिवेटेड रोड जिसका कार्य पूर्णः हो चुका है, उसके विधिवत उद्घाटन के पूर्व ट्रायल रन के लिए इसे खोला जाए, जिस पर तत्काल आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया गया।

9. सभी जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक को निदेश दिया गया कि लगातार निगरानी रख ट्रैफिक की समस्या का समाधान करवायेंगे। छपरा जिले में टैफिक का परिचालन सुचारू रूप से हो, इसके लिए डोरीगंज सड़क के मरम्मति का कार्य शीघ्र कराये जाएंगे, परन्तु जिला पदाधिकारी वहां पुलिस की प्रतिनियुक्ति कर जाम की स्थिति नहीं उत्पन्न होने देंगे। 

बैठक में पुलिस महानिदेशक बिहार, पटना.,अपर मुख्य सचिव, पथ निर्माण विभाग,     सचिव, परिवहन विभाग,    पुलिस महानिरीक्षक, पटना,    पुलिस महानिरीक्षक, मुजफ्फरपुर,राज्य परिवहन आयुक्त,    पुलिस उपमहानिरीक्षक, पटना,    पुलिस उपमहानिरीक्षक, सारण, पुलिस उपमहानिरीक्षक, शाहाबाद, जिला पदाधिकारी, पटना, वैशाली,भोजपुर, सारण, जहानाबाद, अरवल, वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना,पुलिस अधीक्षक, वैशाली, पुलिस अधीक्षक, भोजपुर, पुलिस अधीक्षक, सारण पुलिस अधीक्षक, यातायात, पटना उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News