आजादी पूर्व से लोगों की सुरक्षा कर रहा गाईड बांध पर गंगा - कोसी ने बढ़ाया दबाव, टूटने का मंडरा रहा है खतरा, प्रशासन के साथ रेलवे भी कर रहा कड़ी निगरानी

आजादी पूर्व से लोगों की सुरक्षा कर रहा गाईड बांध पर गंगा - कोसी ने बढ़ाया दबाव, टूटने का मंडरा रहा है खतरा, प्रशासन के साथ रेलवे भी कर रहा कड़ी निगरानी

KATIHAR : कटिहार के कुर्सेला प्रखंड के साथ-साथ बाढ़ के मद्देनजर बड़ी आबादी के लिए गाईड बांध वर्षों से सुरक्षा ढाल बने हुए है। लेकिन इस बार गंगा-कोसी नदी में पानी का दवाव बरने से गाईड बांध पर खतरा मंडरा रहा है। 

आजादी से पहले बने ये बांध कितना महत्वपूर्ण है। यह इससे समझा जा सकता है कि एक तरफ इसी बांध के ऊपर एन. एच 31कुर्सेला पुल है। वहींं दूसरी तरफ इस बांध के ऊपर महत्वपूर्ण कुर्सेला रेलवे ब्रिज है। फिलहाल इस बांध में वर्षों से मरम्मत का काम नहीं होने से इसकी हालत जर्जर हो चुका है और कई जगह से पानी की रिसाव जैसी हालात है। हालांकि इस इलाके में बांध को बचाने के लिए जो भी कुछ काम हुआ है वह स्थानीय लोगों ने निजी तौर पर करवाया है। उनका कहना है कि  प्रशासन और सरकार पर इस बांध के हालात को लेकर गंभीर नहीं हैं, जिसके कारण बांध की स्थिति कमजोर होती चली गई। अब जिस तरह से गंगा के साथ कोसी के पानी का दबाव गाईड बांध पर पड़ रहा है, उसके अंदेशे से ही लोग सहमे हुए हैं।

 हालांकि  जिला अधिकारी बताते है की इस गाइड बांध  कि जानकारी उनके पास भी है और इस पर विशेष निगरानी रेलवे  के अधिकारी और जिला प्रशासन के द्वारा दिया जा रहा है। प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि बांध पर पानी के दबाव को कम करने की कोशिश की जा रही है।

Find Us on Facebook

Trending News