दक्षिण बिहार के इन जिलों के लिए गंगा बनेगी जीवनदायिनी, जल संसाधन विभाग ने शुरु की पहल

दक्षिण बिहार के इन जिलों के लिए गंगा बनेगी जीवनदायिनी, जल संसाधन विभाग ने शुरु की पहल

PATNA : दक्षिण बिहार के चार जिलों में अब जल्द ही किसानों को सुखाड़ का मार नहीं झेलना पड़ेगा। दक्षिण बिहार के नालंदा,नवादा, जहानाबाद व गया जिले के लिए गंगा जीवनदायिनी बनेगी। इन जिलों में अब खेतों की सिंचाई अब गंगा के पानी से होगी। सीएम नीतीश कुमार के निर्देश के बाद जल संसाधन विभाग ने गंगा के पानी को इन जिलों में ले जाने की पहल शुरू कर दी है। 

गंगा के पानी को चारों जिलों में ले जाने की तकनीक का अध्ययन करने को अगले सप्ताह सरकारी अधिकारियों की टीम तेलंगाना जाएगी। वहां कालेश्वरम योजना का अध्ययन कर अधिकारी लिफ्ट सिंचाई की नई तकनीक को समझेंगे। अगर वह तकनीक कारगर हुई तो राज्य की योजना के लिए उसका इस्तेमाल होगा। इस बीच विभाग के अधिकारियों की टीम नालंदा भी जाएगी। टीम के सदस्य वहां योजना की संभावनाओं पर विचार करेंगे। दोनों रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई शुरू होगी। 

विभाग की रणनीति के अनुसार इस योजना के लिए बख्तियारपुर से नालंदा तक नहर बनाकर गंगा का पानी भेजा जाएगा। बख्तियारपुर में गंगा का पानी लिफ्ट कर नहर में डाला जाएगा। दूसरा विकल्प गंगा के पानी को नालंदा की मुहाने नदी में गिराए जाने का है। मुहाने में गंगा का पानी पहुंचने के बाद उससे जुड़ीं नदियों में पानी पहुंच जाएगा। उसके बाद अन्य क्षेत्रों में सिंचाई के लिए नहरों की मदद ली जाएगी।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने पृथ्वी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कहा था कि सूखा प्रभावित इन जिलों में गंगा के पानी से सिंचाई की जानी चाहिए। उन्होंने तेलंगाना की योजना का अध्ययन करने की सलाह विभाग को दी थी। तेलंगाना की उस योजना में नदी के पानी को लिफ्ट कर नहर में लाया जाता है। 

Find Us on Facebook

Trending News