गैंग्स ऑफ वासेपुर ने कराई थी झाविमो नेता रंजीत की हत्या

गैंग्स ऑफ वासेपुर ने कराई थी झाविमो नेता रंजीत की हत्या

झारखंड  धनबाद में पिछले दिनों हुए झाविमो नेता रंजीत सिंह हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा किया है। रंगदारी को लेकर झाविमो नेता और बीकेबी के साइडिंग इंचार्ज रंजीत सिंह की हत्या की गई थी। हत्या गैंग्स ऑफ वासेपुर के प्रिंस खान ने कराई थी। रंगदारी नहीं देने पर उसने दो शूटरों शमशाद खान उर्फ विक्की और औरंगजेब को 3 लाखरुपए की सुपारी दी थी। इसके बाद विक्की और औरंगजेब ने 21 अगस्त को कुसुंडा रेलवे फाटक के पास रंजीत की गोली मारकर हत्या कर दी। 

3 लाख रुपये दी गई थी सुपारी

धनबाद एसएसपी मनोज रतन चौथे ने इस बात का खुलासा करते हुए बताया कि झाविमो नेता रंजीत की हत्या रंगदारी नहीं देने के कारण गैंग्स ऑफ वासेपुर के प्रिंस ने कराई थी। इसके लिए दो शुटरों शमशाद खान उर्फ विक्की और औरंगजेब को 3 लाख रुपये सुपारी दी गई थी। हत्या के समय दोनों शूटर वासेपुर के सोनू और लोयाबाद के वरुण विश्वकर्मा उर्फ बिट्टू की बाइकों पर पीछे बैठे थे। इसके पहले पंकज यादव और नीरज ने रंजीत की रेकी की थी।

शूटर विक्की खान और औरंगजेब गिरफ्तार, हत्या में इस्तेमाल पिस्टल बरामद

एसएसपी ने यह भी बताया कि विक्की और औरंगजेब को मुंबई, वरुण को ब्राइट कुसुंडा और पंकज को केंदुआ से गिरफ्तार किया गया। उनके पास से हत्या में इस्तेमाल की गईं दो पिस्टल, 10 गोलियां, दो बाइक और सात मोबाइल फोन मिले हैं। जबकि नीरज और सोनू अब भी फरार हैं। नीरज की तलाश में बिहार के पटना और मधुपुर में छापेमारी की गई, पर वह नहीं मिला। चौथे ने बताया कि प्रिंस को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। स्पीडी ट्रायल के तहत आरोपियों को सजा दिलाई जाएगी।

बताते चले कि 21 अगस्त को दिन-दहाड़े झारखंड विकास मोर्चा के धनबाद जिला युवा प्रकोष्ठ सह छात्र युवा संघ के अध्यक्ष रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई। सबसे बड़ी विडंबना यह रही कि रंजीत दोपहर में एसएसपी से मिलकर जान से मारने की धमकी देने की जानकारी दी थी और शाम में ही उनकी हत्या कर दी गई। गोंदूडीह ओपी क्षेत्र में कुसुंडा रेलवे फाटक के पास दो पल्सर पर सवार चार अपराधियों ने शाम करीब छह बजे वारदात को अंजाम दिया। इस हत्या से कोयलांचल में सनसनी फैल गई थी। 

Find Us on Facebook

Trending News