गया के तनु हत्याकांड में गवाही बाकी, पिता ने लगाया मिलीभगत का आरोप

गया के तनु हत्याकांड में गवाही बाकी, पिता ने लगाया मिलीभगत का आरोप

 GAYA : गया के चर्चित तनु उर्फ तनीषा हत्याकांड के मामले में गवाही अभी चल रही है. 6 फरवरी 2018 को 4 वर्षीय मासूम तनू उर्फ तनीषा का अपहरण करने के बाद हत्या कर दिया गया था. उसके पिता संजय कुमार ने कहा कि 21 जुलाई को 8:00 बजे सिविल लाइंस थाने की पुलिस ने उन्हें आवास से उठाकर गवाही देने के लिए थाना लाया. इस दौरा उसे 15 घंटा तक भूखा-प्यासा रखा गया. संजय कुमार ने कहा कि जब उनकी पत्नी ने कोर्ट को इसकी सूचना दी. तब जाकर पुलिस उसे कोर्ट में ले जाकर हाजिर किया.

संजय का आरोप है कि उनकी बेटी की हत्या मामले में अबतक 18 लोगों की गवाही हो चुकी है और 13 लोगों की गवाही होनी अभी बाकी है. इन तेरह लोगों में संजय और उसकी पत्नी भी शामिल है. हालाँकि संजय ने पूरी आपबीती जिला सत्र न्यायाधीश से की है. उनकी ओर से भी कहा गया है की जिला सत्र न्यायाधीश ने इन्हें कहा था कि जब तक गवाही चलती है आप कभी भी दे सकते हैं. संजय ने अपील की थी कि हम पति-पत्नी की गवाही अंतिम में लिया जाए. संजय का आरोप है कि पुलिस और सरकारी वकील विपक्ष के लोगों से मिले हुए हैं. 

उन्होंने कहा की मेडिकल रिपोर्ट भी डॉक्टर ने विपक्ष से मिलकर गलत दे दिया है. इसमें लिखा है उसके बच्ची की मौत नॉर्मल हुई है,जबकि 6 फरवरी 2018 को तीन बच्चों का अपहरण किया गया था. इसमें एक बच्चा घर वापस लौट गया और दूसरा बच्चा काफी जख्मी था, जिसकी चिकित्सा मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज कराई गयी थी. घर के बगल के ही छोटू रामानी पर संजय कुमार ने आरोप लगाया कि दुश्मनी से इसने मेरी बच्ची का अपहरण किया था. अपहरण के दूसरे दिन तनु उर्फ तनीषा की लाश वीसी आवास के सामने झाड़ी में पड़ा मिला था. 

यह मामला उस समय काफी सुर्खियों में था. अभी संजय प्रशासन से और न्यायालय से न्याय की गुहार लगा रहे हैं. और संजय का कहना है कि मेरे साथ इंसाफ किया जाए और हमें पुलिस से तंग ना करवाया जाए. उन्होंने कहा की पुलिस, विपक्षी और मेरे वकील सब मिल गए है.   

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट  


Find Us on Facebook

Trending News