बेतिया से अपह्त लड़की तमिलनाडु से हुई बरामद, दोस्त ही निकली पूरे खेल का मास्टर माइंड

बेतिया से अपह्त लड़की तमिलनाडु से हुई बरामद, दोस्त ही निकली पूरे खेल का मास्टर माइंड

Bettiya : पश्चिम चंपारण जिले के लौरिया थाना क्षेत्र के बंगाली चौक से अपह्त लड़की को बेतिया पुलिस ने तमिलनाडु से बरामद कर लिया है। वहीं लड़की का अपहरण करने वाली लड़की को भी गिरफ्तार किया है। 

बेतिया एसपी जयंतकांत ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि मनीषा ने अपनी दोस्त को बहला फुसलाकर अपहृत कर लिया था। इस मामले में महाराष्ट्र के सोलापुर रेलवे पुलिस द्वारा दी गई सूचना के आधार पर अपहरण के इस मामले का खुलासा कर पूरे गिरोह का भंडाफोड़ कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि बंगाली चौक निवासी साजिदा खातून को उसकी दोस्त मनीषा कुमारी स्कूल जाने के बहाने लेकर मऊ रेलवे स्टेशन पहुंच गयी। वहां पर यूपी के भेलथारा निवासी साईमा खातून उर्फ रजिया मिली। सिवान जिले का मूल निवासी रजिया का पति  नसीम तामिलनाडु के सत्यमंगलम में रहता है। रजिया दोनों लड़कियों को लेकर सत्यमंगलम चली गयी। .

वहां पर नसीम का पति लड़की से शादी करने की जिद करने लगा। जिसपर बात बिगड़ गयी। इसी बीच नसीम के घर के बगल में रह रहे उत्तर प्रदेश के देवरिया निवासी मंजय यादव उर्फ मनन यादव ने मनीषा व साईमा से घालमेल कर ली। मनीषा पैसा लेकर महाराष्ट्र के सोलापुर चली गयी। 

सोलापुर पुलिस ने स्टेशन पर मनीषा को संदिग्ध परिस्थिति में घुमते देख उसे पकड़ लिया। पूछताछ के दौरान मनीषा ने अपना घर बेतिया के लौरिया बताया। उसके बाद सोलापुर पुलिस ने इसकी जानकारी लौरिया थाना को दी। 

इसी बीच बगही गांव के एक नाबालिग बच्चे ने अपहृत लड़की के परिजन को मैसेज भेजकर पांच लाख रुपये फिरौती मांगी। कहा कि पैसा मिलने पर लड़की को लौटा दिया जाएगा। थानाध्यक्ष भट्ठ को जब यह जानकारी मिली तो उन्होंने छानबीन की। परिजनों को यह बात गुप्त रखने को कहा। इसके बाद चम्पारण रेंज के डीआईजी ललन मोहन प्रसाद को पूरे मामले की जानकारी दी गई। डीआईजी ने पुलिस टीम को महाराष्ट्र जाने का आदेश दिया।

थानाध्यक्ष जब सोलापुर पहुंचे और मनीषा से पूछताछ की तो वहां उसने साईमा का नाम बताया। पुलिस जब मनीषा को ले सत्यमंगलम पहुंची तो वहां से साईमा फरार हो गयी थी। तब वहां पर मंजय यादव उर्फ मनन यादव पकड़ा गया। उसने बताया कि नसीम अंसारी सिवान में पकड़ा जाएगा। पुलिस टीम सीवान पहुंची और नसीम को पकड़ी तो उसने बताया कि साईमा आजकल बसंतपुर सीवान के रहने वाले महम्मद नजमुल उर्फ पप्पु के सम्पर्क में है। 

पुलिस ने पप्पु को पकड़ा तो उसके मोबाईल में अपहृत लड़की के साथ साईमा की तस्वीर थी। तब पुलिस दोबारा साईमा की तलाश में जुटी। साईमा तामिलनाडु के इंडिगल में छुपी हुई थी। वहां पर छापेमारी हुई तो साईमा के घर से अपहृत लड़की बरामद हुई। 

इस दौरान साईमा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में बगही गांव में छापेमारी कर लड़की के परिजनों से पांच लाख की फिरौती मांगने वाले नाबालिग को पकड़ लिया गया है। 

बेतिया से आशीष कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News