NAWADA NEWS : बाइक से गिरकर जीएनएम की हुई मौत, स्वास्थ्यकर्मियों ने किया जमकर हंगामा

NAWADA NEWS : बाइक से गिरकर जीएनएम की हुई मौत, स्वास्थ्यकर्मियों ने किया जमकर हंगामा

NAWADA : बुधवार को जिले के गोविंदपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित जीएनएम बेबी कुमारी की मौत सड़क दुर्घटना में हो गई। बताया जा रहा है की पल्स पोलियो अभियान के तर्ज पर डोर टू डोर कृष्णा नगर से वैक्सीनेशन कार्य को अंजाम देकर बाइक से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोविंदपुर लौट रही थी। तभी कृष्णा नगर डैम के समीप असंतुलित खोकर बाइक से गिर जाने के कारण उसकी मौत हो गई।

इस घटना की सूचना तुरंत डॉक्टर एवं अन्य कर्मी को मिली। जिसके बा डॉक्टर एवं स्वास्थ्य कर्मी घटनास्थल पर पहुंचकर शव को स्वास्थ्य केंद्र गोविंदपुर लाया गया। कॉविड अभियान के नोडल पदाधिकारी डॉक्टर जफर इमाम ने बताया कि डोर टू डोर वैक्सीनेशन कार्य के लिए जीएनएम बेबी कुमारी वेरीफायर अरविंद कुमार उर्फ कारू के साथ दोपहिया वाहन से कृष्णानगर गई हुई थी। वहां से लौटने के क्रम में रास्ते में ही सड़क दुर्घटना में उसकी मौत हो गई है।

मृतक बेबी कुमारी अगस्त 2020 से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोविंदपुर में जीएनएम के पद पर कार्यरत थी, जो गया जिले के गुरारू की रहने वाली है। उसकी मौत की परिजनों को दे दी गई है। वही वेरीफायर बाइक चालक अरविंद कुमार उर्फ कारू ने बताया कि कृष्णा नगर से वैक्सीनेशन का कार्य करके लौटने के क्रम में बाइक असंतुलित हो जाने से पीछे बैठी जीएनएम बेबी कुमारी गिर गयी, जिससे उसकी मौत हो गई है। हालाँकि अरविंद कुमार उर्फ कारू मृतक के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोविंदपुर में कुछ पल रहने के बाद अचानक वह चकमा देकर मौके से फरार हो गया, जिसकी खोजबीन की जा रही है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित अन्य जीएनएम माधुरी कुमारी, चंचला कुमारी, निक्की कुमारी, एएनएम राजमंती देवी, अनीता देवी, सुनीता देवी, रश्मिता कुमारी, मंजीता कुमारी, नीतू कुमारी, पुष्प लता कुमारी, मधु कुमारी, बसंती कुमारी, हिमांशु कुमारी, शक्कर कुमारी सहित अन्य कर्मी ने बताया की हम लोगों को वैक्सीनेशन कार्य के लिए जबरदस्ती चार पहिया वाहन से ना भेजकर दो पहिया वाहन से अनजान व्यक्तियों के साथ भेजा जाता है। जिसका परिणाम आज सामने है। इस घटनाक्रम को लेकर सभी महिला जीएनएम एवं एएनएम गुस्से में है। मृतिका के पार्थिव शरीर को उठाने नहीं दिया जा रहा है। स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य दरवाजे को जाम कर दिया गया है। इन सभी का मांग है कि जिला पदाधिकारी एवं सिविल सर्जन के आने के बाद ही पार्थिव शरीर को जाने दिया जाएगा। नोडल पदाधिकारी एवं स्वास्थ्य प्रबंधक के ऊपर सीधा-सीधा आरोप लगाया जा रहा है कि इन लोगों के द्वारा मनमाने ढंग से हम लोगों से कार्य कराया जाता है।

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News