गोल इंस्टीट्यूट ने सम्मान समारोह का किया आयोजन, मेडिकल में सफल छात्र- छात्राओं को किया सम्मानित

गोल इंस्टीट्यूट ने सम्मान समारोह का किया आयोजन, मेडिकल में सफल छात्र- छात्राओं को किया सम्मानित

PATNA : बिहार और झारखण्ड में मेडिकल की तैयारी कर रहे छात्रों की पहली पसंद बन चुके गोल इन्स्टीट्यूट की ओर से रविवार को पटना के बापू सभागार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया. इस मौके पर संस्थान के सैकड़ों सफल छात्रों को सम्मानित किया. गोल की ओर से आयोजित इस समारोह में संस्थान के बिहार एवं झारखंड से लगभग 600 से अधिक  सफल छात्रों के अलावा मेडिकल की तैयारी कर रहे 5000 से अधिक छात्रों ने भाग लिया.

प्रोग्राम में मुख्य अतिथि के रूप में आये डॉ. प्रभात कुमार, कॉर्डियोलॉजिस्ट ने कहा कि सफल छात्रों को आने वाले समय में समाज की कई अपेक्षाओं पर खरा उतरना होगा. इस समारोह में डॉ. अमूल्य कुमार, डॉ. जितेन्द्र, डॉ. ममता सिंह, डॉ. नागमणि, डॉ. सुप्रिया, डॉ. मोनिका और डॉ सुबोध के अलावा कई अन्य गणमान्य अतिथियों ने सफल छात्रों से अपने अनुभव साझा किए. 

सफल छात्रों को बधाई देते हुए गोल इन्स्टीट्यूट के मैनेंजिंग डायरेक्टर विपीन सिंह ने कहा कि इन सफल छात्रों पर हमारी संस्थान गौरवान्वित है. उन्होनें सफलता का श्रेय छात्रों के अथक परिश्रम और उनके अभिभावकों के सहयोग को देते हुए कहा कि हमारी टीम लगातार छात्रों के सफलता के लिए प्रतियोगिता के नए प्रारूप के अनुसार तैयारी करा रही है. इसी का परिणाम है कि आज बिहार एवं झारखण्ड से साधारण प्रतिभावाले छात्र भी सफल हो रहे हैं. सिंह ने दिव्यांग छात्रों के लिए निःशुल्क शिक्षा मुहैया कराने का वादा करने के साथ छात्रों को आने वाले समय में और भी बेहतर सुविधाएं देकर मेडिकल के कॉम्पीटिशन में सफलता को आसान बनाने का आश्वासन दिया. 

गोल इन्स्टीट्यूट के असिस्टेंट डायरेक्टर रंजय सिंह ने बताया की इस वर्ष नीट में 6327 छात्र-छात्रा क्वालिफाई किए हैं, जिनमें से 612 छात्रों को सरकारी मेडिकल कॉलेज में एडमीशन मिलने की संभावना है. एम्स में गोल के 53 छात्र-छात्रा सफल हुए. साथ ही जीपमर में 9 छात्रों ने जीत का परचम लहराया. समारोह में पुरस्कृत छात्रों में आल इंडिया जेनरल रैंक 32 प्राप्त गौतम कुमार को गोल की ओर से 51,000/- का चेक साथ ही एम्स में 101 रैंक प्राप्त दिव्यांशु कुमार वर्मा को 21,000/-, धीरज कुमार को 15,000/-, नैन्सी वत्स को 11,000/-, मो. मोटीन को 11,000/- एवं शुभांगी रंजन को 11,000/- का चेक पुरस्कार के रूप में दिया गया. इस वर्ष मेडिकल के बिहार और झारखण्ड के सफल छात्रों में ज्यादातर छात्र गोल इन्स्टीट्यूट से ही हैं. गोल विलेज के 86 प्रतिशत, गोल एचीवर कैम्पस के 84 प्रतिशत एवं गोल चैलेंजर ग्रुप के 100 प्रतिशत छात्रों ने सफलता प्राप्त कर सफलता का बेमिसाल उदाहरण पेश किया है. समारोह का संचालन शैलेश कुमार एवं गौरव प्रकाश ने किया. समारोह में आनन्द वत्स, संजिव कुमार, अनिल कुमार, गौरव सिंह एवं कई अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे.


Find Us on Facebook

Trending News