गोल्ड मेडलिस्ट पहलवान निकला लूटेरा, टॉय गन दिखाकर लूट की घटना को देता था अंजाम

गोल्ड मेडलिस्ट पहलवान निकला लूटेरा, टॉय गन दिखाकर लूट की घटना को देता था अंजाम

NEWS4NATION DESK : ‘पिस्तौल से कम नहीं, पकड़ी जाए तो गम नहीं’, बस इस इरादे से एक नेशनल लेवल का स्वर्ण पदक विजेता पहलवान टॉय गन का भय दिखाकर लोगों के साथ लूटपाट करता था। दिल्ली पुलिस ने ऐसी तीन लूट की घटनाओं का खुलासा किया है। जिसे इस पहलवान ने टॉय गन का भय दिखाकर अंजाम दिया था। पुलिस ने इस लूटेरे के साथ इसके गिरोह में शामिल सदस्यों को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस के मुताबिक बीते  20 मई को स्वरूप नगर इलाके में पिस्टल के बल पर एक टाटा-407 गाड़ी को लूटने की कॉल मिली। पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां पर नसीब हुसैन  नामक व्यक्ति मिला। उसने बताया कि वह बकौली गांव स्थित एक गोदाम से जींस कपड़े का 77 रोल लेकर गांधी नगर जा रहा था। मुकरबा चौक पर बाइक सवार दो युवकों ने उसे रोका और पीठ में पिस्टल तान दी। फिर टेंपो लूटकर फरार हो गए। पुलिस को कॉल न कर दे, इसके लिए नसीब का फोन भी ले गए थे। 

पुलिस ने लूटपाट का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पुलिस ने आसपास के इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की जांच की। साथ ही नसीब के फोन को सर्विलांस पर लगाया। पुलिस टीम ने जांच पड़ताल करके स्वरूप नगर में संदेह के आधार पर दो युवकों को रोका। 

तलाशी के दौरान उनके पास से खिलौने वाले दो पिस्टल मिले। उन लोगों ने बताया कि पिस्टल उनके भतीजे के हैं। सख्ती पर आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। युवकों की पहचान झंडेवालान निवासी ओम शंकर मौर्या (21) और पहलवान रितिक गोस्वामी (19) के रूप में हुई। 

पुलिस ने इनके निशानदेही पर दो खरीदार रघुवीर नगर निवासी अनवर और संतोष को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने अनवर के रघुवीर नगर स्थित गोदाम से लूटा गया जींस के रोल बरामद कर लिए। पकड़े गया पहलवान रितिक गोस्वामी आगरा का रहने वाला है और दिल्ली के झंडेवालान में रहता है। उसने आठवीं तक पढ़ाई की और वह राष्ट्रीय स्तर का पहलवान है। पहलवानी की प्रतियोगिताओं में वह तीन स्वर्ण पदक जीत चुका है। 

वहीं पुलिस ने इनके पास से दो टॉय गन, पांच लाख रुपये और वारदात में इस्तेमाल बाइक बरामद भी की है। 

Find Us on Facebook

Trending News