खुशखबरी : बिहार में मिला पहला कोयला खदान,खनन मानचित्र में दिखेगा बिहार

खुशखबरी : बिहार में मिला पहला कोयला खदान,खनन मानचित्र में दिखेगा बिहार

PATNA : जी हां भारत के खनन मानचित्र में अब बिहार का नाम भी खोजा जा सकता है क्योंकि अब बिहार को भी कोयला खदान मिल गया है। बता दें किस सेंट्रल माइंस एंड प्लानिंग डिजाइन इंस्टीट्यूट सीएमपीडीआई ने बिहार के मंदार पर्वत ब्लॉक में कोयले की पहले खान की तलाश पूरी पूरी कर ली है।

सेंट्रल माइंस एंड प्लानिंग डिजाइन इंस्टीट्यूट अब निरीक्षण करने में जुटा है कि मंदार पर्वत ब्लॉक क्षेत्र में मिले इस पहली कोयला खदान में कोयला कितना है।

बताया जा रहा है कि कोयला खदान से संबंधित रिपोर्ट कंपनियों को भेजी जा रही है, साथ ही उत्पादन के लिए ड्राफ्ट प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी तैयार की जा रही है।

सीएमपीडीआई सेंट्रल माइंस एंड प्लानिंग डिजाइन इंस्टीट्यूट सेंट्रल माइंस एंड प्लानिंग डिजाइन इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक की मांने तो बिहार में कोयले की खान तलाशना बिहार के साथ ही सीएमपीडीआई के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। 

उन्होंने बताया की अब बिहार भी खनन मानचित्र से जुड़ जाएगा। निदेशक ने कहा  कि कोयला खदान मिलना बिहार के आर्थिक सेहत के लिये अच्छा होगा। 

गौरतलब है कि झारखंड के अलग हो जाने के बाद से बिहार में एक भी खनिज उत्पादन खदान नहीं बचा था। खनिज उत्पादन से आने वाले सारे आर्थिक संसाधन समाप्त हो गए थे। कोयला खान का मिलना बिहार के लिये भी वरदान साबित हो सकता है।

Find Us on Facebook

Trending News