90 हजार नियोजित शिक्षकों की बहाली के लिए शिक्षा विभाग ने लिए यह बड़ा फैसला,इस महीने के अंत तक मिल जाएगा नियोजन पत्र

90 हजार नियोजित शिक्षकों की बहाली के लिए शिक्षा विभाग ने लिए यह बड़ा फैसला,इस महीने के अंत तक मिल जाएगा नियोजन पत्र

PATNA : राज्य में प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया शुरू है नियोजन की प्रक्रिया को कई चरणों में पहले से भी अंजाम दिया जा रहा है। इस बार 90763 शिक्षकों की बहाली के लिए शिक्षा विभाग ने सेल बनाने का फैसला लिया है।

शिक्षा विभाग में सेल क्या करेगा?

गौरतलब है कि राज्य के सभी जिलों में शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया चल रही है कक्षा 1 से 8 तक के 90763 शिक्षकों की बहाली के लिए शिक्षा विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। बताया गया है कि इसे आसान करने के लिए शिक्षा विभाग एक कंट्रोल रूम बनाने का निर्णय लिया है, जो नियोजन की प्रक्रिया का सूक्ष्म ढंग से मॉनिटरिंग करेगा। शिक्षा विभाग के द्वारा नियोजन की प्रक्रिया की मॉनिटरिंग के लिए बनाए गए सेल में तीन अधिकारी होंगे। 

बता दें कि शिक्षा विभाग को नियोजन इकाइयों से बहाली को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थी। इन शिकायतों को देखते हुए प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने सेल बनाने का निर्णय लिया ताकि सही ढंग से शिक्षक नियोजन की मॉनिटरिंग की जा सके। 

गौरतलब है पंचायत नियोजन इकाई में किसी भी प्रकार की नियोजन में बाधा डालने की स्थिति में पंचायती राज विभाग अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी। कक्षा 1 से 8 तक के लिए नियोजन की प्रक्रिया प्रखंड व अन्य प्रारंभिक शिक्षक नियोजन इकाई के माध्यम से की जाएगी।

बता दें कि शिक्षकों के नियोजन के लिये एक ही दिन में नियोजन पत्र कैंप के माध्यम से बांटने का निर्देश दिया गया है। साथ ही यह भी निर्देशित किया गया है कि नियोजन पत्र देने के पहले चयनित अभ्यर्थी की सर्टिफिकेट की पूरी तौर पर प्रमाणिक जांच कर लेना है

क्या कहना प्राथमिक शिक्षा निदेशक का?

प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रंजीत कुमार ने बताया है कि नियोजन की मॉनिटरिंग के लिए जल्द ही सेल बना दिया जाएगा, ताकि नियोजन इकाइयों से मिलने वाली शिकायतों पर सेल के अधिकारी जांच कर सकें।

उन्होंने यह भी बताया कि मार्च के अंत तक विभिन्न नियोजन इकाईयों के चयनित अभ्यर्थियों को नियोजन पत्र दे दिया जाएगा। इसमें एक से पांच तक की कक्षा के लिए 63951 शिक्षक और कक्षा 6 से 8 तक के लिए 26811 शिक्षकों का नियोजन होना है।

Find Us on Facebook

Trending News