सुशासन की गुंडा पुलिस : बीमार मां की दवा लेकर जाने की गुहार लगाते रहे दो भाई, पुलिस लाठियों की करती रही बौछार, लोगों ने कानून के काम पर उठाए सवाल

सुशासन की गुंडा पुलिस :  बीमार मां की दवा लेकर जाने की गुहार लगाते रहे दो भाई, पुलिस लाठियों की करती रही बौछार, लोगों ने कानून के काम पर उठाए सवाल

MOTIHARI : बिहार की सुशासन वाली पुलिस किस तरह अपने पावर का गलत इस्तेमाल करती है, आम लोगों पर अपनी धौंस जमाती है। इसका एक बड़ा उदाहरण मोतिहारी जिले से सामने आया है, जहां पुलिस ने अपनी हरकतों से गुंडों को भी पीछे छोड़ दिया है। यहां गाड़ी के पंक्चर बनवाने को लेकर हुए विवाद में दो भाइयों को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। दोनों भाई अपनी बीमार के लिए दवा लेने आए थे। लेकिन पुलिसवाले अपनी धौंस उन पर दिखाते हुए पीटते रहे, वह चीखते चिल्लाते हुए छोड़ने की भीख मांग मांगते रहे,लेकिन पुलिसवाले नहीं माने। मोतिहारी पुलिस की इस गुंडई का अब एक ऑडियो सामने आया है। जो कि सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वायरल ऑडियो के सामने आने के बाद जिले के पुलिस कप्तान ने जांच के आदेश दिए हैं।

दस दिन पहले की है घटना

मोतिहारी जिला के फेनहारा पुलिस की एक गुंडई की ऑडियो व तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वायरल ऑडियो 30 सितंबर की बतायी जा रही है। इस ऑडियो के बारे में बताया जा रहा है कि फेनहारा थाना क्षेत्र के मड़पा मोहन गांव के दो भाई बीमार मां की दवा लाने के लिए देवकुलिया चौक गए हुए थे।बाइक में हवा कम होने पर रितिक नाम का छात्र पंचर दुकान पर हवा लेने के लिए गया। इसी बीच सादे लिबास में फेनहारा थाना अध्यक्ष सहित पुलिस बल प्राइवेट गाड़ी से पंचर दुकान पर पहुंचे और बाद में पहुंचकर दुकानदार से पहले हवा भरने के लिए दबाव बनाने लगा। इतने में पंचर दुकान पर खड़ा युवक द्वारा बीमार मा की दवा लेने की बात कहकर पहले बाइक के हवा देने की बात कही गई। इतने में फेनहारा पुलिस आगबबूला होकर गाली गलौज करने लगी।गाली गलौज नही करने की बात कहते ही गाड़ी से डंडा निकाल छात्र की पिटाई शुरू कर दिया। तबतक दूसरा भाई दवा लेकर बाइक दुकान पर पहुचा तो भाई की पिटाई देख गुहार लगाया तो पुलिस ने दूसरे भाई की भी जमकर पिटाई किया। पुलिस के पिटाई के दौरान ही किसी ने ऑडियो बना लिया।


बांड पर लिखवाया पुलिस से कोई शिकायत नहीं है

 पंक्चर दुकान में दोनों भाइयों को बेरहमी से पीटने के बाद फेनहारा पुलिस का मन नहीं भरा। दुकान पर पिटाई के बाद थाने ले जाकर भी जमकर पिटाई किया। सूचना पर पहुंचे परिजनों से पीआर बॉन्ड पर दोनों भाई को छोड़ा। वहीं पुलिस ने परिजनों से पीआर में लिखवाया की पुलिस से कोई शिकायत नही है। उसके बाद परिजन दोनों भाइयों को सदर अस्पताल ले जाकर इलाज करवाये। दोनों भाइयों की जान की गुहार लगाने की आवाज स्पष्ट सुना जा सकता है। वही वाइरल ऑडियो में गालियों की बौछार के साथ साथ दोनों भाइयों के शरीर पर पिटाई के निशान देखने के बाद मानवता की रूह कांप जाएगी ।

पीड़ित दिनों भाइयों ने पुलिस की इस बर्बरतापूरक पिटाई की शिकायत डीआईजी ,एसपी व मानवाधिकार को लिखित आवेदन देकर किया है।पुलिस की इस करवाई की चर्चा गांव गांव में हो रही है ।सोशल मीडिया पर लोग यह कहते नही थक रहे कि भाई पुलिस है या गुंडा। यही है डीजीपी की फ्रेंडली पुलिस। पकड़ीदयाल डीएसपी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि वरीय पदधिकारी के निर्देश पर जांच मिला है। जांच करके रिपोर्ट वरीय पदधिकारी को भेजा जाएगा।

वायरल ऑडियो व तस्वीर की पुष्टि न्यूज़4नेशन नहीं करता है।

Find Us on Facebook

Trending News