गोपालगंज के कई गांवों में मंडराया बाढ़ का खतरा, लोगों से ऊँचे स्थान पर जाने की अपील

गोपालगंज के कई गांवों में मंडराया बाढ़ का खतरा, लोगों से ऊँचे स्थान पर जाने की अपील

GOPALGANJ : बाल्मीकिनगर बराज से चार लाख क्यूसेक पानी छोड़ दिया गया है। जिसके बाद गोपालगंज में गंडक के जलस्तर में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। सदर प्रखंड के करीब आधा दर्जन से ज्यादा गांव पानी से घिर गए हैं। लोगों को माइक के जरिए गांव से बाहर आने की अपील की जा रही है। सदर एसडीएम के निर्देश पर सदर प्रखंड में तीन जगहों पर शरणस्थली बनाए गए हैं। जहां पर लोगों को मवेशियों साथ रहने की व्यवस्था की जा रही है। 

सदर सीओ विजय कुमार सिंह खुद सदर प्रखंड के मंगुरहा, मकसूदपुर, जगरी टोला, कमल सिंह के टोला,  मंझरिया गांव में माइक के जरिए लोगों से ऊंचे स्थानों पर आने की अपील कर रहे हैं। पिछले साल करीब तीन लाख 80 हजार क्यूसेक अधिक पानी छोड़ा गया था। तब भीषण तबाही हुई थी। इस बार भी ज्यादा बारिश होने और गंडक में ज्यादा पानी छोड़े जाने की वजह से गोपालगंज में बाढ़ का खतरा झेलना पड़ सकता है। 

जगरीटोला गांव के तारा देवी  के मुताबिक वे अपने घरों के सामान को लेकर बाहर जा रहे हैं। परिवार के सदस्यों को बाहर भेज दिया गया है। बचे हुए सामान को ट्रैक्टर से भेजा जा रहा है। अब इलाके के लोगों के पास 2 घंटे का समय है। 2 घंटे के अंदर पूरे घर को खाली कर देना होगा। क्योंकि रास्ता भी गंडक के जलस्तर बढ़ने से बंद हो रहा है। बैरिस्टर सिंह के मुताबिक सदर प्रखंड के करीब आधा दर्जन से ज्यादा गांव बाढ़ से घिरे हुए हैं। गांव में लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

गोपालगंज से एस के श्रीवास्तव की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News