ई होम्स पनोरमा में भागवत कथा के पांचवें दिन की गयी गोवर्धन पूजा

ई होम्स पनोरमा में भागवत कथा के पांचवें दिन की गयी गोवर्धन पूजा

पूर्णिया. पूर्णिया के ई होम्स पनोरमा में आयोजित सात दिवसीय श्री-श्री 1008 श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ के पाँचवे दिन बुधवार को बिहार के पूर्व डीजीपी कथा वाचक गुप्तेश्वर पांडे जी महाराज ने कृष्ण की बाल लीलाओं और गोवर्धन पूजा के प्रसंग विस्तार से सुनाए।

श्री-श्री 1008 श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ में गोवर्धन पर्वत की कृत्रिम आकृति-झांकी के माध्यम से दर्शाई गई। भगवान श्री कृष्ण को 56 प्रकार के भोग लगाए गए।प्रवचन में गुप्तेश्वर जी महाराज ने कहा की भगवान श्री कृष्ण ने पृथ्वी पर धर्म व सत्य की पुन: स्थापना के लिए द्वार पर युग में अवतार लिया।

उन्होंने बाल्य अवस्था में ही कालीय नाग का मर्दन करके यमुना जी को पवित्र किया। पूतना एवं बकासुर आदि मायावी शक्तियों का अंत किया। बृज भूमि में आतंक के प्रयायी कंश मामा का वध करके अपने माता-पिता देवकी-वसुदेव और नाना महाराज उग्रसेन को कारागार से मुक्त कराया। गोवर्धन पूजा में प्रकृति की पूजा का उल्लेख किया गया। गायकों द्वारा एक से बढ़कर एक भजन सुनाए गए। भजनों पर श्रद्धालु झूम उठे।

Find Us on Facebook

Trending News