जम्मू-कश्मीर पर सरकार ले सकती है बड़ा फैसला, घाटी में तैनात की गई पैरामिलिट्री की 100 कंपनियां

जम्मू-कश्मीर पर सरकार ले सकती है बड़ा फैसला, घाटी में तैनात की गई पैरामिलिट्री की 100 कंपनियां

NEWS4NATION DESK : जम्मू-कश्‍मीर पर केन्द्र सरकार कोई बड़ा फैसला ले सकती है। जम्मू-कश्मीर में अर्धसैनिक बलों की 100 और कंपनियां तैनात की गई हैं। वहीं कुछ ही दिनों मेंलगभग 16000 और जवान घाटी की सुरक्षा में तैनात हो जाएंगे। ऐसा बताया जा रहा है कि 15 अगस्‍त को स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर सरकार आर्टिकल 35-A या जम्मू कश्मीर से जुड़े कुछ और मसलों पर बड़ा फैसला ले सकती है। 
 
 कश्‍मीर में कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने के लिए गृह मंत्रालयने सीएपीएफ समेत अन्‍य बलों की अतिरिक्‍त 100 कंपनियों को तैनात करने का आदेश दिया है।  मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक सीआरपीएफ की 50, बीएसएफ की 10, एसएसबी की 30 और आईटीबीपी की 10 कंपनियां तैनात की गई है। 

वहीं  सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार पीएम मोदी 15 अगस्‍त के कार्यक्रम में जम्‍मू कश्‍मीर जा सकते हैं और  इसी दिन आर्टिकल 35 ए पर कोई बड़ी घोषणा कर सकते  है। 

बता दें कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल बिना किसी पूर्व जानकारी के घाटी के दौरे पर श्रीनगर पहुंचे हैं। डोभाल के इस दौरे को काफी सीक्रेट रखा गया था।  बताया जाता है कि श्रीनगर पहुंचने से कुछ घंटे पहले ही अधिकारियों को एनएसए के पहुंचने की जानकारी दी गई थी।
 पिछले दो दिनों से डोभाल सेना के अलग-अलग अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं।  अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी है कि डोभाल श्रीनगर में किस सीक्रेट मिशन के तहत पहुंचे हैं।  

अजीत डोभाल ने राज्यपाल के सलाहकार के विजय कुमार, डीजीपी दिलबाग सिंह, मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम, आईजी एसपी पाणि से मुलाकात की। कश्मीर दौरे पर पहुंचे एनएसए ने इस दौरान आईबी के आलाधिकारियों से भी मुलाकात की। डोभाल ने इस दौरान किन मुद्दों पर चर्चा की इसकी कोई जानकारी अभी तक हाथ नहीं लगी है। 

Find Us on Facebook

Trending News