सरकारी अस्पताल का अल्ट्रासाउंड मशीन दो महीने से फांक रहा धूल, फर्जी लैब संचालकों की बल्ले बल्ले

सरकारी अस्पताल का अल्ट्रासाउंड मशीन दो महीने से फांक रहा धूल, फर्जी लैब संचालकों की बल्ले बल्ले

MOTIHARI : मोतिहारी के अरेराज अनुमंडलीय अस्पताल का अल्ट्रासाउंड मशीन दो माह खराब पड़ी हुई है। जिसके ठीक कराने की फुर्सत जिले के स्वास्थ्य विभाग को नहीं है। मशीन खराब होने के कारण अनुमंडलीय अस्पताल में इलाज कराने आने वाले मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वहीं अस्पताल का अल्ट्रासाउंड खराब होने से फर्जी अल्ट्रासाउंड संचालकों का धंधा जमकर फल-फूल रहा है। यहां जांच के नाम पर मरीजों को लूटा जा रहा है और उनसे मनमानी फीस वसूली जा रही है। मरीजों से 800 से एक हज़ार लेकर अल्ट्रासाउंड किया जा रहा है। वहीं खराब मशीन को ठीक कराने की बात पर विभाग के अधिकारी परेशानी होने की बात तो मानते हैं, लेकिन इसको लेकर ज्यादा चिंतित नजर नहीं आते हैं।

अनुमंडल क्षेत्र के 5 लाख लोगों के स्वास्थ्य सुविधा के लिए अनुमंडलीय अस्पताल है। लेकिन अस्पताल की सुविधा जानकर आप हैरान हो जाएंगे। केंद्र से राज्य सरकार गर्भवती महिलाओ के स्वाथ्य जांच व बेहतर सुबिधा को लेकर कई महत्वाकांक्षी योजना चला रही है। प्रसव मृत्यु दर को रोकने के लिए केंद्र सरकार के पीएम मातृत्व दिवस का आयोजन प्रत्येक माह किया जाता है। जिसमे गर्भवती महिलाओ का स्वास्थ्य जांच के अलावा फल, आयरन की गोली दी जाती है। साथ ही जरुरत पड़ने पर बीपी, अल्ट्रासाउंड ,हेमोग्लोबिन की जांच की जाती है। लेकिन अल्ट्रासाउंड की सुविधा नहीं होने के कारण उन्हें जांच के प्राइवेट लैब में जाना पड़ता है।


नहीं की गई वैकल्पिक व्यवस्था

मशीन खराब होने की स्थिति में आम तौर पर किसी प्राइवेट लैब से जांच के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाती है। जहां सरकारी खर्च पर जांच की सुविधा प्रदान की जाती है। लेकिन यहां स्वास्थ्य विभाग ने ऐसा कुछ नहीं किया। जिसके कारण कहीं भी जांच कराने के कारण न सिर्फ लोगों को अधिक पैसा देना पड़ रहा है, बल्कि रिपोर्ट की विश्वसनियता भी सही नहीं होती है।

एक ही लाइसेंस पर कई लैब का संचालन

सूत्रों की माने तो शहर में आधा दर्जन प्राइवेट अल्ट्रासाउंड  क्लिनिक है. सभी क्लिनिक किसी डॉक्टर के नाम पर चलता है। लेकिन अल्ट्रासाउंड क्लिनिक टेक्नीशियन के सहारे ही चलता है. सीएस कार्यालय के मिली भगत से एक ही लाइसेंस नम्बर पर हरसिद्धि व अरेराज में भी अल्ट्रासाउंड चल रहा है। जिसके एवज में सीएस कार्यालय को प्रतिमाह बंधी बंधाई पहुंचाई जाती है। कुछ लोगों को कहना है कि है जानबुझकर अनुमंडल अस्पताल के अल्ट्रासाउंड मशीन को बनवाने में देरी की जा रही है।

अधिकारी ने कहा – जल्द ठीक होगी मशीन

अनुमंडलीय अस्पताल उपाधीक्षक डॉ उज्वल कुमार ने बताया कि दो माह से अस्पताल का अल्ट्रासाउंड खराब है। जिसको लेकर इंजीनियर को सूचना दिया गया है। जल्द ही अल्ट्रासाउंड को दुरुस्त कर सुबिधा उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं फर्जी अल्ट्रासाउंड संचालको पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News