सरकारी अफसर सालाना रिकॉर्ड में छिपा रहे संपति... जांच में खुल रही पोल

सरकारी अफसर सालाना रिकॉर्ड में छिपा रहे संपति... जांच में खुल रही पोल

PATNA : बिहार के सरकारी अधिकारी अपनी संपत्ति के ब्योरे में आधी अधूरी जानकारी देते हैं। खासकर अपनी पत्नी और बेटे बेटियो के नाम पर अर्जित संपति को सालाना दिये जाने वाले व्योरा में सार्वजनिक नही करते।

पूर्व एडीएम ओम प्रकाश प्रसाद ने अपनी संपत्ति के बारे में सरकार को झूठी जानकारी दी थी। सरकारी रिकॉर्ड में खासकर पत्नी एवं परिजनों के मालिकाना हक वाली संपत्ति की जानकारी छिपा ली गई थी।

आय से अधिक संपत्ति की जांच में लगे निगरानी टीम के सामने जांच में या हकीकत सामने आई है। जांच में यह पता चला है कि पूर्व एडीएम ने भ्रष्टाचार के जरिए अकूत संपत्ति अर्जित की। उन्होंने अपनी पत्नी अनीता प्रसाद एवं अन्य के नाम पर जमीन मकान व अन्य संपत्ति हासिल की। इसमें राजधानी के रूपसपुर इलाके में स्थित मकान एवं जमीन भी शामिल है। साथ ही बैंक व अन्य वित्तीय संस्थानों में भी मोटी रकम का निवेश किया गया।

आपको बता दें कि 17 नवंबर 2018 को निगरानी विभाग की टीम ने बेगूसराय में सरकारी आवास पर छापेमारी की थी जिसमें 6 लाख रुपये रिश्वत लेते एडीएम ओम प्रकाश प्रसाद गिरफ्तार किए गए थे। जब उनके आवास की तलाशी ली गई तो 5 लाख से अधिक  और राजधानी के रूपसपुर इलाके में जलालपुर सिटी के पास एडीएमके निजी घर से 3.5 लाख रुपये बरामद किये गए थे।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News