शिक्षकों के आंदोलन की घोषणा से डरी सरकार, पहले शिक्षक दिवस के दिन स्कूल में हाजिर होने का दिया आदेश,उसके बाद गांधी मैदान देने से किया इनकार

शिक्षकों के आंदोलन की घोषणा से डरी सरकार, पहले शिक्षक दिवस के दिन स्कूल में हाजिर होने का दिया आदेश,उसके बाद गांधी मैदान देने से किया इनकार

PATNA : शिक्षकों के आंदोलन की घोषणा से बिहार सरकार डर गई है। सरकार को शंका हो गया है कि अगर बिहार के लाखों शिक्षक पटना के गांधी मैदान में जुटे तो सरकार के लिए मुश्किल हो सकती है। लिहाजा आंदोलन को कुचलने की कोशिश शुरू हो गई है।

पहले सरकार ने यह फरमान जारी किया कि शिक्षक दिवस के दिन यानी 5 सितंबर को सभी शिक्षकों को हर हाल में अपने-अपने स्कूलों में उपस्थित रहना होगा। जो शिक्षक उपस्थित नहीं रहेंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसीलिए शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने 5 अक्टूबर सितंबर जो की छुट्टी का दिन होता था उस दिन स्कूल चालू रखने का आदेश दिया है। मकसद यही है कि शिक्षकों को पटना में इकट्ठा होने से रोकना। 

वहीं दूसरी ओर पटना जिला प्रशासन ने गांधी मैदान में रैली करने की इजाजत नहीं दी है। दरअसल बिहार शिक्षक संघ ने 5 सितंबर को गांधी मैदान में रैली का ऐलान किया था। शिक्षक संघ के ब्रजनंदन शर्मा ने 5 सितंबर को शिक्षकों की रैली के लिए गांधी मैदान की बुकिंग के लिए आवेदन किया था, लेकिन सुरक्षा कारणों और अन्य कार्यक्रमों की वजह से जिला प्रशासन ने गांधी मैदान की बुकिंग करने से इंकार कर दिया है।

श्री कृष्ण विकास स्मारक समिति जो गांधी मैदान की बुकिंग करती है, उसने शिक्षक संघ की आवेदन को खारिज कर दिया है।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News