सरकारी स्कूल के शिक्षकों को दिया जाएगा एक नया प्रशिक्षण, 42 लाख शिक्षकों का होगा चुनाव

सरकारी स्कूल के शिक्षकों को दिया जाएगा एक नया प्रशिक्षण, 42 लाख शिक्षकों का होगा चुनाव

NEWS4NATION DESK : स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों कटिबद्ध है। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए सरकार के द्वारा शिक्षकों और छात्रों को नियमित प्रशिक्षण देने की प्रक्रिया भी लगातार कई वर्षों से जारी है। इसी के तहत स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए केंद्र सरकार ने शिक्षकों को एक नए तरह के प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया है।

इस खास शिक्षक प्रशिक्षण को आठवीं तक के बच्चों को पढ़ाने वाले करीब 42 लाख शिक्षकों को दिया जाएगा केंद्र सरकार ने निष्ठा (नेशनल इनिशिएटिव फॉर स्कूल हेड्स एंड टीचर्स हॉलिस्टिक एडवांसमेंट)  नाम से एक शिक्षक प्रशिक्षण योजना तैयार की है। जिसे बुधवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने लॉन्च किया है।

 सरकार को उम्मीद है कि निष्ठा नामक इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को बेहतर आधार प्रदान किया जाएगा।

निष्ठा की लॉन्चिंग करते हुए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री पोखरियाल ने बताया कि केंद्र सरकार प्राथमिक स्तर पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए लगातार प्रशिक्षण योजनाएं चला रही है। निष्ठा नामक इस विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य है कि बच्चों के बौद्धिक विकास में कैसे वृद्धि किया जाए।

गौरतलब है की प्राथमिक शिक्षा में गुणवत्ता और शिक्षकों की कमी को लेकर बराबर सवाल खड़ा किया जाता रहा है। सरकार का मानना है की किताबों के बोझ से बच्चों को बाहर निकालना होगा तभी उनका बौद्धिक विकास संभव है।

निष्ठा नामक कार्यक्रम बच्चों को किताबों के बोझ के दबाव से निकाल कर बौद्धिक विकास के रास्ते पर ले चलने में सहायक होगा। साथ ही बच्चों में सीखने की क्षमता को भी काफी विकसित करेगा।

Find Us on Facebook

Trending News