हिंदुस्तान में सरकारी आतंकवाद न कि भगवा या इस्लामी, जानिए किसने लिया मोदी सरकार को निशाने पर

हिंदुस्तान में सरकारी आतंकवाद न कि भगवा या इस्लामी, जानिए किसने लिया मोदी सरकार को निशाने पर

NEWS4NATION DESK : राष्ट्रीय ओलमा काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने मोदी सरकार पर एक बड़ा आरोप लगाया है। मौलाना ने मालेगांव बम कांड के आरोपी साध्वी प्रज्ञा को भोपाल लोकसभा चुनाव में बीजेपी की तरफ से उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर कहा कि देश में भगवा या इस्लामी नहीं बल्कि सरकारी आतंकवाद है। आपको बता दें उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ पर लगे आतंक गण कि कलंक से मुक्ति दिलाने की लड़ाई लड़ रहे राष्ट्रीय ओलमा काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना अमीर रशादी ने कहा है समेरी लड़ाई आतंकवाद के आरोप में बेगुनाह मुसलमानों के फंसाए जाने के खिलाफ है। 

उन्होंने कहा है कि मुसलमानों को आतंकवाद के इल्जाम में फंसाने का सबसे बड़ा उद्देश्य यह है कि मुस्लिमों को राजनीतिक रूप से अछूत बना दिया जाए।

मौलाना ने साध्वी प्रज्ञा को कोट करते हुए कहा कि सरकारी एजेंसियों ने उनको बेवजह फंसाया बाद में उन्हीं एजेंसियों के द्वारा उन्हें क्लीनचिट भी दे दी गई, तो क्या एजेंसियों ने ही साध्वी प्रज्ञा को फंसाया और एजेंसियों ने ही मालेगांव कांड किया? 

मौलाना ने भाजपा और कांग्रेस दोनों को निशाने पर लेते हुए कहा कि मुस्लिम युवकों को आतंकवाद जैसे आरोप में फंसाने के लिए दोनों ही दलों की नीतियां जिम्मेदार है। इसका सीधा उद्देश्य है की हर स्तर पर मुसलमानों को राजनीतिक तौर पर अलग-थलग किया जा सके।

रशादी ने कहा है कि हमारी लड़ाई बेगुनाह मुस्लिम युवकों के लिये है जो आंतकवाद और देशद्रोह जैसे आरोप में वेबजह फंसाये गए हैं।

Find Us on Facebook

Trending News