पहली बार जनगणना में आपसे स्मार्टफोन, टॉयलेट के बारे में भी पूछेगी सरकार

पहली बार जनगणना में आपसे स्मार्टफोन, टॉयलेट के बारे में भी पूछेगी सरकार

मोदी सरकार ने पहली बार जनगणना में इंटरनेट, स्मार्टफोन और टॉयलेट के बारे में आंकड़े जुटाने का फैसला किया है। अगले महीने से जनगणना करने वाले स्टाफ हाउसिंग सेंसस में इंटरनेट और एंटरटेनमेंट से संबंधित जानकारी भी जुटाने की कोशिश करेंगे। यह वास्तव में देशव्यापी सर्वे होगा जो 12 अगस्त से 4 सितंबर के बीच किया जायेगा।

बता दें कि साल 2021 से पहले होने वाले इस सर्वे के माध्यम से मोदी सरकार देश के निवासियों के लाइफ स्टाइल के बारे में भी समझना चाहती है। इस सर्वे में देश के लोगों से यह जानने की कोशिश की जाएगी कि वे किस ईंधन का उपयोग करते हैं, पेय जल किस तरह खरीदते हैं और उनकी दिनचर्या कैसी है? सर्वे में मोदी सरकार यह भी जानने की कोशिश करेगी कि लोगों के पास टीवी, रेडियो या इंटरनेट कनेक्शन के साथ लैपटॉप है या नहीं।

 सरकार इन जानकारी के माध्यम से लोगों की स्मार्टफोन और इंटरनेट तक पहुंच का अंदाजा लगाना चाहती है। देश भर में किये जाने वाले इस सर्वे में लोगों से यह भी पूछा जायेगा कि वे परिवहन के लिए किस साधन का इस्तेमाल करते हैं? मोदी सरकार पहली बार यह जानने की कोशिश कर रही है कि देश में कितने लोगों के घर में इंटरनेट है और हर घर में कितने स्मार्टफोन हैं? इसके साथ ही सर्वे में यह जानकारी भी जुटाई जाएगी कि कितने लोग डीटी एच कनेक्शन से टीवी देखते हैं और कितने लोकल ऑपरेटर की मदद से। सरकार यह भी जानना चाहती है कि क्या अब भी लोग रेडियो, ट्रांजिस्टर या दोनों इस्तेमाल करते हैं? जनगणना में मिले आंकड़ों का इस्तेमाल सरकार आने वाली याजनाओँ को बनाने में करेगी।

Find Us on Facebook

Trending News