पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने नहीं खोले पत्ते, कहा- लोगों से बात करके बताऊंगा

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने नहीं खोले पत्ते, कहा- लोगों से बात करके बताऊंगा

पटना : रिटायरमेंट से 5 महीने पहले वीआरएस लेने वाले पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आज मीडिया के सामने आए. पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने चुनाव लड़ने की अटकलों पर चुप्पी साध ली. वो इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोले . पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने चुनाव लड़ने के सवाल को टालते हुए कहा कि इस मुद्दे पर अपने लोगों से बात करने के बाद कुछ कहूंगा.

दरअसल, डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने मंगलवार को सेवानिवृत्ति की अवधि से 5 महीने पहले ही वीआरएस ले लिया था. इसके बाद से उनके राजनीति में आने के कयास लगाए जाने लगे हैं. हालांकि, इस मसले पर पूर्व डीजीपी ने कहा कि मैंने इस्तीफा दे दिया है और अब मैं फ्री हो गया हूं. चुनाव लड़ने की चर्चा पर डीजीपी ने कहा कि मैंने अब इस मसले पर कुछ नहीं कहा है. शिवसेना द्वारा किए गए जुबानी हमले पर डीजीपी ने कहा कि कोई भी कुछ भी बोलने को स्वतंत्र है

 इस मौके पर पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा है  कि बिहार में पिछले 15 साल के अंदर बहुत कुछ बदला है और आज यहां रामराज्य वाली स्थिति है. गौरतलब है की गुप्तेश्वर पांडे लगातार अप्रत्यक्ष तौर पर ही सही नितीश सरकार के गुणगान में पहले भी लगे रहते थे. इनके चुनाव लड़ने की चर्चा भी जोरों पर है. बताया जा रहा है की पांडे जी बक्सर सदर से चुनाव लड़ सकते हैं.डीजीपी रहते हुए बक्सर जाकर इन्होने अपनी फील्डिंग भी टाईट कर ली है .

 गुप्तेश्वर पांडे ने यह भी कहा कि उन्होंने पुलिस की सेवा पूरे निष्ठा के साथ की है और आगे जिस क्षेत्र में भी काम करेंगे निष्ठा बनी रहेगी. उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में जो कुछ हुआ वह बिहारी अस्मिता से जुड़ा सवाल था. मेरे द्वारा एफ़आइआर  करने के बाद मामले में तेजी आई .....  

Find Us on Facebook

Trending News