HAIRCUT GONE WRONG: मॉडल का बाल काटने में सैलून के छूटे पसीने, एक गलती पर भरना पड़ा 2 करोड़ का हर्जाना, जानें पूरा मामला...

HAIRCUT GONE WRONG: मॉडल का बाल काटने में सैलून के छूटे पसीने, एक गलती पर भरना पड़ा 2 करोड़ का हर्जाना, जानें पूरा मामला...

NEW DELHI: एक पुरानी कहावत है- जान है तो जहान है। मगर अब इसमें थोड़ा बदलाव आ गया है। अब पुरुष हो या महिला, दोनों को जान से ज्यादा सेहत और खास तौर पर बालों की चिंता सताने लगी है। पहले सिर्फ महिलाएं अपने बालों के लिए चिंता करती नजर आती थीं और तरह-तरह के शैंपू और तेल लगाती थी। अब इस कड़ी में पुरुष भी शामिल हो गए हैं और वह भी अपने बालों को लेकर सजग और सतर्क है।

ऐसे में क्या हो, अगर आप किसी महंगे सैलून में बाल कटवाने जाएं और आपका महंगा हेयर कट खराब हो जाए? वह भी इतना खराब कि उसकी वजह से आपको अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़े? ऐसे ही कुछ हुआ है दिल्ली की एक महिला के साथ। जिन्होंने इस मामले में सैलून चैन को कंज्यूमर कोर्ट तक घसीट लिया और मामले में फैसला भी महिला के पक्ष में ही आया। क्या है यह पूरा मामला आइए जानते हैं-

3 साल पुराने मामले में इस हफ्ते आया फैसला

 ITC मौर्य होटल ने आशना रॉय नाम की महिला के लंबे बाल काट दिए और गलत हेयर ट्रीटमेंट दे दिया। जिसकी वजह से महिला को बड़ा नुकसान हुआ। उसकी लाइफस्टाइल बदल गई और टॉप मॉडल बनने का उसका सपना टूट गया। यह मामला अप्रैल 2018 का है जिस पर कोर्ट ने 21 सितंबर को फैसला दिया है। 

दिल्ली के सैलून का है मामला

ये सैलून दिल्ली के एक होटल में स्थित है। जहां अप्रैल 2018 में आशना रॉय अपने बालों के ट्रीटमेंट के लिए गईथीं। वह ‘हेयर प्रोडक्ट’ की मॉडल थीं और उन्होंने कई बड़े ‘हेयर-केयर ब्रांड’ के लिए मॉडलिंग की थी। सैलून द्वारा उनके निर्देश से उलट गलत बाल काटने के कारण उसे अपने काम से हाथ धोना पड़ा और आर्थिक नुकसान भी झेलना पड़ा।जिससे उनका रहन-सहन तो बदला ही टॉप मॉडल बनने का सपना भी टूट गया। आशना रॉय ने कहा कि उन्होनें सैलून में साफ तौर पर बालों को आगे से लंबे ‘फ्लिक्स’ रखने और पीछे से बालों को चार इंच काटने को कहा था। लेकिन हेयरड्रेसर ने अपनी मर्जी से महज चार इंच बाल छोड़कर उसके लंबे बालों को पूरी तरह से काट दिया।

गलती छुपाने की भी हुई कोशिश

होटल पर सिर्फ महिला के बाल काटने का ही नहीं, बल्कि हेयर ट्रीटमेंट में मेडिकल लापरवाही करने का भी आरोप लगा है। कोर्ट ने कहा कि महिला का स्कैल्प जल गया, जिसमें महिला को अब तक एलर्जी और इचिंग रहती है। महिला की तरफ से दाखिल किए गए वॉट्सऐप चैट से यह साफ हुआ कि होटल ने अपनी गलती मानी थी और फ्री ट्रीटमेंट देने की पेशकश करके अपनी गलती छुपाने की कोशिश भी की थी। कोर्ट ने होटल को यह मुआवजा देने के लिए 8 हफ्तों का समय दिया है।

Find Us on Facebook

Trending News