जीतन राम मांझी को एक और झटका, पूर्व मंत्री अजित कुमार ने पद से दिया इस्तीफा

जीतन राम मांझी को एक और झटका, पूर्व मंत्री अजित कुमार ने पद से दिया इस्तीफा

मुजफ्फरपुर : पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर बाहरी व्यक्ति को दल का प्रत्याशी बनाए जाने से आहत 'हम' के किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मंत्री ई0अजीत कुमार ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

बीबीगंज स्थित अपने आवास पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन के शीर्ष नेताओं ने जीतन राम मांझी को ना तो मन के मुताबिक सीट दिया और उल्टे बाहरी उम्मीदवार थोप कर हम के अस्तित्व को संकट में डाल दिया है. इससे राज्य के सभी जिलों के समर्पित कार्यकर्ता पार्टी नेतृत्व के खिलाफ  काफी आक्रोशित व आंदोलित हैं. उन्होंने इस स्थिति के लिए पार्टी नेतृत्व को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि  जीतनराम माँझी जी ने महागठबंधन के शीर्ष नेताओं के समक्ष घुटना टेक पार्टी के लिए यह स्थिति पैदा कर दिया है.

अजित कुमार ने कहा कि महागठबंधन के सभी शीर्षस्थ नेता समरस समाज की बात करते रहे हैं, लेकिन इस चुनाव में प्रत्याशी के चयन में ब्राह्मण ,भूमिहार को दरकिनार किए जाने से उनकी कलई खुल गई है. इतना ही नहीं इस चुनाव में महागठबंधन को  भारी नुकसान भी उठाना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि मैं मुजफ्फरपुर सीट से लोकसभा का चुनाव  लड़ने की तैयारी बीते 4 वर्ष से कर रहा था. मैं उत्तर बिहार में पार्टी की मजबूती के लिए तन, मन, धन से लगा रहा लेकिन जब टिकट का समय आया तो मुझे जात की परिधि में बांधकर टिकट से वंचित कर दिया गया है. जबकि मैं जात- पात से ऊपर उठकर आजीवन समाज के कमजोर वर्गों की लड़ाई लड़ता रहा हूं.

अजित कुमार ने कहा कि जीतन राम मांझी एक अच्छे इंसान हैं. मैं आज भी उन्हें आदर की दृष्टि से देखता हूं. लेकिन जिस तरह चुनाव में उन्हें संट कर महागठबंधन के शीर्ष नेताओं ने अपने मुताबिक सीट एवं प्रत्याशी थोप दिया, इससे जीतन राम मांझी  का कद बौना साबित हो गया है.

Find Us on Facebook

Trending News