मोकामा के कार्यकर्ताओं से बोले JDU सांसद ललन सिंह,CM नीतीश का कॉन्सेप्ट क्लियर है,हर हाल स्थापित रहे कानून का राज

मोकामा के कार्यकर्ताओं से बोले JDU सांसद ललन सिंह,CM नीतीश का कॉन्सेप्ट क्लियर है,हर हाल स्थापित रहे कानून का राज

PATNA : जनता दल (यूनाइटेड) के लोकसभा में नेता संसदीय दल राजीव रंजन सिंह उर्फ़ ललन सिंह ने गोह, हिसुआ, गोविंदपुर, मोकामा एवं बाढ़ के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया. 

इस मौके पर सिंह ने कहा कि राज्य के खजाने से पूरे बिहार में लगभग 1000 करोड़ रूपये की लागत से प्रदेश की सभी राष्ट्रीय पथों को मरम्मत कर यात्रा की रफ्तार को बढ़ाया गया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर राज्य में सड़कों की रखरखाव के लिए मेंटेनेंस पालिसी  बनाया गया. मेंटेनेंस पालिसी के माध्यम से प्रदेश की सभी सड़कों का सर्वे कराकर अच्छी सडकों पर राज्य की जनता को चलने के लिए निर्मित किया गया है. राज्य सरकार द्वारा 6200 मेगावाट बिजली खरीद कर प्रदेश की जनता को 24 घंटा बिजली उपलब्ध कराई जा रही है.

सिंह ने कहा कि बाढ़ और मोकामा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा किए गए विकास कार्यो से टाल में विकास का जयकारा हो रहा है.


सिंह ने कहा कि मेरा संकल्प है भय का वातावरण समाप्त करना, चाहे कोई भी हो, कोई फर्क नहीं पड़ता है. कोई भय का वातावरण तैयार करना चाहता है, तो होने नहीं दिया जाएगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का स्पष्ट मानना है कि हर हालत में कानून का राज स्थापित रहना चाहिए.

टाल के इलाके में 200 करोड़ रूपये की लागत से स्वलुईस गेट का निर्माण किया गया है. 

उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अतिपिछड़ा वर्ग के साथ न्याय कर पंचायती राज व्यवस्था में आरक्षण देकर अतिपिछड़ा समाज को मुख्यधारा में शामिल करने का ईमानदार प्रयास किया है. दलितों एवं अतिपिछड़ा वर्ग के उत्थान के लिए नीतीश कुमार ने अनेकों योजनाएं चलाई हैं, अल्पसंख्यकों के लिए भी कई कार्यक्रम चलाया गया, जिसमें मदरसों की स्थिति में काफी सुधार की गई तथा मदरसा के शिक्षकों को सातवां वेतनमान का लाभ दिया गया. 

सिंह ने कहा कि राजद के राज में अपराधियों का बोलबाला था, कानून नाम की कोई चीज नहीं थी. आम जनता नारकीय जीवन जीने को मजबूर थी।


सिंह ने कहा कि लोकसभा चुनाव में राजद जिस प्रकार जीरो पर आउट हुआ. आगामी 2020 के विधानसभा चुनाव में भी राजद जीरो पर आउट होगा.

योजना एवं विकास मंत्री महेश्वर हजारी ने कहा कि लालू-राबड़ी सरकार में जातीय एवं धार्मिक उन्माद फैलाकर राजनीतिक लाभ लिया जाता रहा. परंतु मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के 15 वर्षों के शासन में सामाजिक सौहार्द कायम हुआ.

खाद्य उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन साहनी ने कहा कि पति-पत्नी की सरकार में अतिपिछड़ा वर्ग समाज को जिन्न, पचफोरना, पंचपवनिया कहकर अपमानित किया जाता रहा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अतिपिछड़ा वर्ग समाज को सम्मानित किया है.

पूर्व सांसद कहकशां परवीन ने कहा की 15 वर्षों में नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यक समाज के लिए कई कार्यक्रम चलाकर मुख्यधारा में लाने का प्रयास किया है.




Find Us on Facebook

Trending News