नही थम रहा हर्षिता के आत्महत्या का मामला, इंसाफ के लिए सड़क पर उतरे लोग

नही थम रहा हर्षिता के आत्महत्या का मामला, इंसाफ के लिए सड़क पर उतरे लोग

KISHANGANJ: किशनगंज शहर के बाल मंदिर स्कूल की 11 वीं की छात्रा हर्षिता ने ट्रेन के आगे आकर अपनी जान दे दी. आखिर हर्षिता ने क्यों अपनी जान गवा दी. इस बात इस का अभी तक कोई आधिकारिक खुलासा नही हो पाया है. 

लेकिन मौत के सन्दर्भ मे बताया जा रहा है की छात्रा 11 वीं की कंपार्टमेंट की परीक्षा मे फेल हुई थी और डिप्रेसन में आकर खुदकशी कर लिया. हालाँकि परिजनों आरोप है की हर्षिता ने शिक्षक की प्रताड़ना से तंग आकर खुदकशी कर लिया. वह फैल नही हुई थी. उसे जानबुझ कर फेल किया गया था. पास करने को लेकर उससे पैसे की डिमांड की जा रही थी. कॉपी में उसे एक बार फेल और एक बार पास किया गया था. लोगों का मानना है की इसमे स्कूल मैनेजमेंट की एक बड़ी लापरवाही है. पूरे मामले की जांच कर दोषियों को सख्त से सख्त सजा की मांग की जा रही है. 

छात्रा को इंसाफ दिलाने के लिए लोग कभी कैंडल मार्च तो कभी आन्दोलन कर रहे हैं. रविवार को उन्होंने स्कूल के वाइस प्रिंसिपल का पुतला दहन कर इंसाफ के लिए गुहार लगाया. पौआखाली बाजार में युवाओं ने हर्षिता मामले को लेकर पुतला दहन कर वी वॉन्ट जस्टिस के नारे लगाए. आप को बता दे को इस मामले की डीएम के निर्देश पर एसडीएम के निगरानी मे एक जांच कमेटी बनाई गई है और मामले की छानबीन जारी है

किशनगंज से साजिद हुसैन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News