नवादा में नहीं थम रहा हाथियों का आतंक, तीन लोगों की ली जान, ग्रामीणों में दहशत

नवादा में नहीं थम रहा हाथियों का आतंक, तीन लोगों की ली जान, ग्रामीणों में दहशत

NAWADA : जिले में जंगली हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है. उनके उत्पात से तीन लोगों की दर्दनाक मौत हुई है. वहीँ पूरे गांव में कोहराम मच गया है. वन विभाग की टीम के द्वारा हाथी को काबू करने की काफी कोशिश की जा रही है. लेकिन अभीतक हाथी को काबू नहीं किया जा सका है. 

बताते चलें कि कांग्रेस विधायक नीतू सिंह ने विधानसभा में यह मामला उठाया था की हाथी का काफी आतंक है. इस पर वन विभाग को काबू करना चाहिए. लेकिन इस मुद्दे पर सरकार ने ध्यान नहीं दिया और आज देखने को ऐसा मिला कि हाथी पूरे जिले में आतंक मचाए हुए हैं. अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है. डीएफओ उमेश कुमार ओझा ने बताया कि हाथी को काबू में करने के लिए नवादा व गया के वनकर्मियों की टीम लगी हुई है. पटना से भी क्विंक रिस्पॉंश टीम को बुलाया गया है. उन्होंने कहा कि गया जिले के गुरपा इलाके से नवादा जिले के सिरदला में हाथी का प्रवेश कल हुआ था. उस पर नवादा व गया वन विभाग की टीम सतत निगरानी रख रही थी. रात में सिरदला से दूर नारदीगंज और हिसुआ इलाके के ग्रामीण क्षेत्र तक पहुंच गया. उन्होंने कहा कि प्रयास जारी है, जल्द ही हाथी पर काबू पा लिया जाएगा. 

आपको बताते चलें कि पहली घटना नारदीगंज में हाथी का आतंक देखने को मिला. जहां लोगों में दहशत मच गया. वहीं हाथी ने विनोद चौहान नामक व्यक्ति को उठाकर पटक दिया. जिससे उनकी मौत हो गई. इसके बाद लोगों ने हाथी को खदेड़  कर भगाया.वहीं दूसरी घटना से  हिसुआ क्षेत्र में हाथी का आतंक देखने को मिला. जहां हाथी आये और आनंदी सिंह को उठाकर पटक दिया. जिससे उनकी मौत हो गयी. अब हाथी को देखते ही पूरे गांव में कोहराम मच जाता है. पूरे गांव में सन्नाटा पसर जाता है. उधर मेसकौर के हसनचक गांव निवासी बालेश्वर यादव को हाथी ने उठा कर पटक दिया. जिससे उनकी मौत हो गयी. 

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News