सिविल सर्जन कार्यालय में कार्यरत स्वास्थ्य पर्यवेक्षक की हत्या, 15 दिन पहले मिली थी धमकी

सिविल सर्जन कार्यालय में कार्यरत स्वास्थ्य पर्यवेक्षक की हत्या, 15 दिन पहले मिली थी धमकी

LAKHISARAI : सिविल सर्जन कार्यालय में प्रतिनियुक्त स्वास्थ्य पर्यवेक्षक अनिल कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। अनिल सिंह शेखपुरा ( कटारी ) से बाइक से ड्यूटी पर आ रहे थे। उनके साथ बाइक चालक अनुराग कुमार भी थे जो सीएस कार्यालय में ही डाटा ऑपरेटर के पद पर पदस्थापित है। घटना के बाद लोगों ने विरोध में सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। 

लखीसराय-शेखपुरा जिले की सीमा सिरारी रेलवे गुमटी क्रास करते ही अपराधियों ने इनकी बाइक को रुकवाकर नजदीक से सिर में गोली मार दी। उन्हें पहले रामगढ पीएचसी फिर सदर अस्पताल लखीसराय लाया गया जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। मृतक के साथ रहे अनुराग कुमार के अनुसार बाइक पर तीन की संख्या में अपराधी थे जो उनका पीछा करते आ रहे थे। सिरारी रेलवे गुमटी क्रास करने के बाद ओवरटेक करके बाइक को रुकवाया और फिर अनिल कुमार को सिर में गोली मार दी। गोली मारकर अपराधी फिर से वापस शेखपुरा की तरफ ही भाग निकले। बाइक पर तीन की संख्या में अपराधी थे जिसमें एक ने हेलमेट पहन रखा था और दो ने मास्क लगा रखा था।

जानकारी के अनुसार स्वास्थ्य पर्यवेक्षक अनिल कुमार सिविल सर्जन कार्यालय के ही डाटा ऑपरेटर के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर शेखपुरा से लखीसराय आ रहे थे। इसी दौरान उनके सिर में गोली मार कर हत्या कर दी गई। पंद्रह दिन पूर्व स्वास्थ्य पर्यवेक्षक अनिल कुमार को नक्सली संगठन के कथित सदस्य के नाम से डाक से पत्र भेज कर किसी ने धमकी भी दी थी। इसकी शिकायत उन्होंने विभाग और पुलिस से की थी।

घटना के विरोध में स्‍वजन और आम लोग आक्रोशित हैं। इसके विरोध में लोग सड़क पर आ गए हैं। बताया जा रहा है कि लोगों ने पुलिस प्रशासन से खिलाफ नारे लगाए हैं। साथ ही मुआवजे की मांग की है। स्‍वजनों का इस घटना के बाद बहुत बुरा हाल है। स्‍वजन शोक में डूबे हुए हैं।


Find Us on Facebook

Trending News