नवादा में हीट स्ट्रोक का कहर जारी, अबतक 32 की मौत, 44 लोगों की हालत गंभीर

नवादा में हीट स्ट्रोक का कहर जारी, अबतक 32 की मौत, 44 लोगों की हालत गंभीर

NAWADA : जिले में हीट वेव विकराल रुप धारण कर लिया है। शनिवार से शुरु हुआ मौत का सिलसिला जारी है। जिले में अबतक अलग-अलग जगहों पर 32 लोगों की मौत लू लगने से हो चुकी है। हालांकि सरकारी तौर पर अभी 11 लोगों की मौत की पुष्टि की गई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक शनिवार को पांच लोगों की मौत लू से हुई। वहीं दूसरे दिन रविवार को छह की मौत हुई। 


शनिवार को हीट वेव से मौत का शुरु हुआ सिलसिला रविवार को भी जारी रहा। रविवार को सदर प्रखंड के भदोखरा के 53 वर्षीय कृष्णदेव प्रसाद सिंह की मौत सदर अस्पताल में हुई। वहीं शाम 5 बजे के बाद नारदीगंज के सीताराम महतो, मोगलाखर नवादा के 75 वर्षीय असलम खान, हिसुआ के 55 वर्षीय मदन लाल और गया जिला के खिजरसराय अंतर्गत मंडेय गांव के नंद सिंह की 65 वर्षीया पत्नी मीना सिंह की मौत हो गई। 

वहीं पावापुरी मेडिकल कॉलेज रेफर किए गए अकबरपुर के देवनारायण यादव की भी मौत रविवार को हुई। जबकि शनिवार को गोविंदपुर के देवचरण पंडित, रोह के बाबू लाल सिंह, गया जिले के वजीरगंज के सुखदेव सिंह, नारदीगंज की श्रीदेवी, कौआकोल के रामस्वरूप दास की मौत होने की जानकारी प्रशासनिक स्तर से दी गई थी। 

नये मरीजों के आने का सिलसिला जारी

शनिवार से बीमार पड़ने और बीमारी से लोगों के मरने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। रविवार को सदर अस्पताल नवादा में 33 नए मरीज सामने आए। इन मरीजों का इलाज सदर अस्पताल नवादा, पावापुरी मेडिकल कॉलेज व पीएमसीएच पटना में चल रहा है। 

सिविल सर्जन डॉ. श्रीनाथ प्रसाद सिंह ने बताया कि सन स्ट्रोक की वजह से इन लोगों की मौत हुई है। जबकि अन्य लोगों का इलाज चल रहा है। पीएमसीएच पटना में दो, पावापुरी मेडिकल कॉलेज में 17 और शेष का सदर अस्पताल नवादा में इलाज चल रहा है। कुल 44 मरीजों का इलाज अब भी चल रहा है। मरीजों व उनके परिजनों को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए नगर के कई युवा समाजसेवी सक्रिय नजर आए। 

स्थिति पर डीएम बनाए हुए नजर 

लू के शिकार मरीजों की संख्या में रविवार की शाम फिर से इजाफा होने के बाद डीएम कौशल कुमार स्वयं सदर अस्पताल पहुंच गए और अपनी निगरानी में इलाज से लेकर रेफर होने वाले मरीजों को बड़े अस्पतालों में भेजने में सक्रिय देखे गए। बता दें कि शनिवार की रात भी डीएम स्वयं अस्पताल में डटे थे। 

लू से बचाव को किया जा रहा जागरूक

लू से बचाव को जिला प्रशासन लोगों को जागरूक करने में जुटी है। माइक  के जरिए आम लोगों को हिदायत दी जा रही है। जिला जन संपर्क पदाधिकारी गुप्तेश्वर कुमार स्वयं इसका जिम्मा संभाल रखे हैं। 

सड़कों पर गिराया जा रहा पानी 

वहीं सड़क पर चलने वाले राहगीरों को लू व गर्मी से बचाने के लिए पानी का छिड़काव किया जा रहा है। आम तौर पर लोग रास्ता चलते गिरकर बेहोश हो जा रहे हैं। इसकी शिकायतों के बाद सड़क को पानी गिराकर ठंडा किया जा रहा है।

मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए सदर अस्पताल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सुरक्षा में स्वाट व जिला पुलिस बल के जवानों की तैनाती की गई है। एएसपी अभियान कुमार आलोक सुरक्षा व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सदर अस्पताल में प्रवेश करने वालों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। पूछताछ के बाद ही अंदर प्रवेश दिया जा रहा है। अनावश्यक भीड़ न हो इसलिए ऐसा किया गया है। 

शनिवार को इनलोगों की हुई थी मौत 

1. देव चरण पंडित-गोविंदपुर- 72 वर्ष

2. बाबु लाल सिंह- भंडाजोर, रोह- 75 वर्ष

3. सुखदेव सिंह- वजीरगंज- 90 वर्ष

4. श्री देवी- नारदीगंज - 73 वर्ष

5. रामस्वरूप रविदास- कौआकोल- 70 वर्ष

रविवार को इनकी हुई मौत

1. कृष्णंदन प्रसाद सिंह- भदोखरा- 53 वर्ष

2. देव नारायण यादव- कुंडिलपुर अकबरपुर-65 वर्ष

3. सीताराम महतो- नारदीगंज

4. असलम खान-मोगलाखार, नवादा

5. मदन लाल- हिसुआ

6. मीना सिंह, खिजरसराय, गया। 

अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News