भारी पड़ी बयानबाजीः सपा सांसद को तालिबान का समर्थन करना पड़ा महंगा, भारत और अफगान की तुलना पर बड़ी मुश्किल में फंसे

भारी पड़ी बयानबाजीः सपा सांसद को तालिबान का समर्थन करना पड़ा महंगा, भारत और अफगान की तुलना पर बड़ी मुश्किल में फंसे

SAMBHAL: अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होने के बाद से विश्व में अशांति और तनातनी का माहौल है। भारत की ओर से आधिकारिक रूप से तो इस मसले पर कोई बयान जारी नहीं किया गया है, मगर इसको लेकर कई सांसदों और नेताओं के अटपटे और विरोधाभासी बयान सामने आने लगे हैं। इसी बीच उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो गया है। 

दरअसल, बर्क नेअफगानिस्तान में तालिबान पर कब्जे की तुलना भारत में ब्रिटिश राज से कर दी थी। उन्होंने कहा था, हिंदुस्तान में जब अंग्रेजों का शासन था और उन्हें हटाने के लिए हमने संघर्ष किया, ठीक उसी तरह तालिबान ने भी अपने देश को आजाद किया। तालिबान नेरूस, अमेरिका जैसे ताकतवर मुल्कों को अपने देश में ठहरने नहीं दिया। तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे की तुलना भारत की आजादी की लड़ाई से करने वाले संभल सेसमाजवादी पार्टी के सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है।संभल की सदर कोतवाली में भाजपापश्चिमी यूपी के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंघल की तहरीर पर सपा सांसद बर्क़ के खिलाफ केस दर्ज किया गया।

पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र ने बताया कि मंगलवार की देर रात को सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और दो अन्य के ख़िलाफ केस दर्ज किया गया है।
 सांसद ने कुछ मीडिया चैनल से बातचीत करते हुए कहा था कि तालिबानी अपनी आजादी के लिए लड़ रहा है। जैसे भारत में अंग्रेजों के खिलाफ स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने लड़ाई लड़ी थी। एसपी चक्रेश मिश्रा ने कहा कि तालिबान भारत सरकार द्वारा घोषित एक आतंकवादी संगठन है, इस तरह के बयान देशद्रोह की श्रेणी में आते हैं। उपरोक्त लिखित तहरीर के आधार पर तीनों के खिलाफ धारा-124 ए, 153ए और 295ए आईपीसी के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है।राजेश सिंघल ने संभल कोतवाली में दी तहरीर में बताया कि सपा सांसद डॉ. बर्क ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की तुलना अफगानिस्तान में आतंक मचा रहे तालिबानी लड़ाकों से की है। इसी तहरीर के आधार पर पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई है।

Find Us on Facebook

Trending News