मंत्री जी का हाईलेवल ड्रामा! जनक राम को प्रधान सचिव ने कल ही गुलदस्ता देकर किया था स्वागत,आज मचा दिया हाय-तौबा

मंत्री जी का हाईलेवल ड्रामा! जनक राम को प्रधान सचिव ने कल ही गुलदस्ता देकर किया था स्वागत,आज मचा दिया हाय-तौबा

PATNA : बीजेपी कोटे से मंत्री बने माननीय की पहले दिन ही विभाग में भारी बेइज्जती हो गई। मंत्री जी पूरे लाव-लश्कर के साथ कुर्सी संभालने गए थे लेकिन वहां जाकर तो उन्हें भारी बेइज्जती का सामना करना पड़ा। मंत्री जी अपने विभाग के प्रधान सचिव का इंतजार करते रहे लेकिन वो नहीं पहुंची।  अपनी भारी बेइज्जती होते देख मंत्री ने चपरासी से गुलदस्ता लिया और कहा कि प्रधान सचिव पर एक्शन लेंगे। यह खबर जंगल में आग की तरह फैल गई। अपनी भद्द पिटने के बाद प्रधान सचिव भागे-भागे मंत्री के चैंबर में पहुंची और फिर गुलदस्ता देकर स्वागत किया.गुलदस्ता लेने के बाद प्रधान सचिव पर बिफरे मंत्री जी का गुस्सा थोड़ा कम हुआ। इसके बाद मंत्री जी ने प्रधान सचिव व अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग कर विभाग के बारे में जानकारी ली। इन सब के बीच गुलदस्ता को लेकर मंत्री जी का हाईवोल्टेज पॉलिटिकल ड्रामा सामने आ गया है।

मंत्री जी ने कल ही ले लिया था गुलदस्ता

इसी बीच अब एक और बड़ी खबर सामने आ गई है। दरअसल मंत्री जी शपथ लेने के कुछ देर के बाद ही विभाग पहुंच गए थे। वहां पर विभाग की प्रधान सचिव हरजोत कौर ने मंत्री जी का गुलदस्ता देकर स्वागत किया था। वो तस्वीर सामने आ गई है। आज पूरे लाव-लश्कर के साथ मंत्री जी विभाग पहुंचे थे। उन्हें अपने लोगों को दिखाना था कि मंत्री का रौब क्या होता है.....जब विभाग के प्रधान सचिव ने मंगलवार को ही गुलदस्ता देकर स्वागत कर दिया था तो फिर दूसरे दिन गुलदस्ता देकर स्वागत करने का कोई औचित्य ही नहीं था। लिहाजा प्रधान सचिव दूसरे कामों में व्यस्त थीं। विभागीय प्रधान सचिव ने कहा कि हम वीसी में थे,समय से जानकारी नहीं मिली इस वजह से आज हम नहीं आ सके।  

आज चपरासी से गुलदस्ता लेकर मचा दिया हायतौबा

बीजेपी के पूर्व सांसद जनक राम इस बार भाजपा कोटे से मंत्री बने हैं. जनक राम को खान एवं भूतत्व विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। खान एवं भूतत्व मंत्री जनक राम ने बताया कि वो बुधवार को नियत समय पर चार्ज लेने अपने विभाग पहुंचे थे. इसकी सूचना उन्होंने विभाग की प्रधान सचिव हरजोत कौर को भी भिजवा दी थी लेकिन वो नहीं पहुंची। सरकारी परंपरा रही है कि मंत्री पदभार ग्रहण करने पहुंचते हैं तो उनके स्वागत में प्रधान सचिव मौजूद रहते हैं. मंत्री जब दफ्तर में पहुंचे तो प्रधान सचिव का अता पता नहीं था. मंत्री जी प्रधान सचिव का इंतजार करने लगे. दफ्तर के कुछ लोगों ने प्रधान सचिव को फोन भी मिलाया लेकिन कोई फर्क नहीं पडा. अपनी बेइज्जती होते देख उन्होंने चपरासी को बुलाया और कहा कि आप से ही हम गुलदस्ता लेंगे। इसके बाद चपरासी ने मंत्री जी को गुलदस्ता देकर विभाग में स्वागत किया।

मंत्री जनक राम बिफऱे

गुलदस्ता लेने के बाद मंत्री जनक राम अफसरशाही पर बिफऱ गए और कहा कि एक्शन लेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें विभाग में पहले दिन से ही अफसरशाही देखने को मिल रहा है. वे इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. प्रधान सचिव से स्पष्टीकरण पूछेंगे कि वे क्यों नहीं पहुंची.हम इस विभाग के नेक्सस को तोड़ेंगे। प्रधान सचिव पर कार्रवाई को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखेंगे.

गोपालगंज के पूर्व सांसद हैं जनक राम 

बता दें, जनक राम पहली बार भाजपा में वर्ष 2014 में शामिल हुए थे. वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में बसपा से जनक राम को भाजपा में शामिल किया गया था और वो पार्टी के उम्मीदों पर खरा उतरे. तब जनक राम ने रिकॉर्ड 2 लाख 74 हजार मतों से बम्पर जीत दर्ज की थी. जनक राम चमार जाति से आते है और वो अपने नाम में जनक चमार ही लिखते हैं. वर्ष 2019 में गोपालगंज लोकसभा सीट जदयू कोटे में चली गयी. उनका टिकट कट गया लेकिन बम्पर जीत दर्ज करने वाले जनक राम ने पार्टी के खिलाफ कोई बगावत नहीं की और वो पार्टी के प्रति वफादार बने रहे. वो भाजपा में दलित प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष है और पार्टी के स्टार कैम्पेनर भी हैं. इस बार पार्टी ने जंक राम को बड़ी जिम्मेदारी दी है. और अब वे नीतीश कैबिनेट में मंत्री बनाए गए हैं.

Find Us on Facebook

Trending News