HIGHEST SCORE: मुल्तान का सुल्तान

HIGHEST SCORE: मुल्तान का सुल्तान

N4N DESK: ना तो हिंदुस्तान में मुल्तान है और ना ही किसी सुल्तान की सल्तनत. लेकिन वो एक ऐसी पारी थी जिसने सहवाग को मुल्तान के सुल्तान के तौर पर पहचान दी. हाईएस्ट स्कोर की खास कड़ी में आज सहवाग के उस खास पारी की बात होगी जो  विश्व के सर्वश्रेष्ठ पारियों में शुमार है.  

विरोधी गेंदबाजों के जेहन में डर पैदा करनेवाला सुल्तान
 
सहवाग एक ऐसे खिलाड़ी थे जो बेलौस बल्लेबाजी के चलते टेस्ट के लिए अनफिट माने जाते थे लेकिन भारतीय क्रिकेट के इतिहास में उन्होने वो कारनामा किया जो किसी भारतीय बल्लेबाज ने नहीं किया था. यदि आकड़ों की बात करें तो सहवाग के नाम टेस्ट में 23 सेंचुरी और 32 हाफ सेंचुरी हैं जबकि वनडे क्रिकेट में उनके नाम पर 15 सेंचुरी और 38 हाफ सेंचुरी दर्ज हैं
 

मुल्तान की उस पारी ने बनाया सुल्तान

साल 2004, जब टीम इंडिया पाकिस्तान के दौरे पर थी. 5 साल बाद दोनों देशों के बीच 5 मैच की टेस्ट सीरीज हो रही थी, हर किसी की नजर सचिन, द्रविड़, लक्ष्मण, शोएब अख्तर, सकलेन मुश्ताक पर टिकी थी. लेकिन उस सीरीज में पाकिस्तान को यदि किसी ने चौंकाया तो वो थे वीरेंद्र सहवाग. मुल्तान में सहवाग की उस पारी को भला कौन भूल सकता है, ओपनिंग करने आए सहवाग ने 531 मिनट में 375 गेदें खेलकर 39 चौके और 6 छक्के की मदद से वो कारनामा कर दिया जो इतिहास बन गया. सहवाग ने कुल 309 रन बनाए और क्रिकेट प्रेमियों ने नाम दिया मुल्तान का सुल्तान.

सहवाग की पारी के दौरान आखिरी सिक्सर की मजेदार कहानी

सहवाग अपने पूरे क्रिकेट करियर के दौरान सचिन को अपना गुरू मानते थे, और सचिन भी बैटिंग करने के वक्त सहवाग को कुछ न कुछ टिप्स देते ही रहते थे. मुल्तान की उस पारी में जब सहवाग 300 के करीब थे तो सचिन बार बार सहवाग को टिप्स देते रहे कि आराम से खेलें लेकिन सहवाग ने पलटकर कहा कि यदि बॉलिंग में सकलेन मुस्ताक आया तो छक्का जरूर मारूंगा और जब सकेलन बॉलिंग करने आए तो सहवाग ने छक्का जड़कर अपना तिहरा शतक पूरा किया.  


Find Us on Facebook

Trending News