भारत को मिली नई उड़न परी, हिमा दास ने रचा इतिहास

भारत को मिली नई उड़न परी, हिमा दास ने रचा इतिहास

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय स्प्रिंटर हिमा दास ने गुरुवार को अंडर 20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत को गोल्ड मेडल दिला कर इतिहास रचा है. हिमा ने फिनलैंड में हो रही आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप की महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता है. 18 साल की हिमा ने गोल्ड मेडल जीत इतिहास रचा है. गोल्ड मेडल जितने वाली वह पहली भारतीय महिला एथलीट बनी है. 
HIMA-DAS-WON-GOLD-MEDAL3.JPG
खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा 18 साल की हिमा ने 400 मीटर स्पर्धा को पूरा करने में 51 .46 सेकेंड का समय ली. हालांकि वह अपने  51 .13 सेकेंड के निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से पीछे रही. हिमा दस मूल रूप से आसाम की रहने वाली है. गोल्ड मेडल जीत कर हिमा ने कहा कि 'विश्व जूनियर चैंपियनशिप में गोल्‍ड जीतकर मैं काफी खुश हूं. मैं स्वदेश में सभी भारतीयों को धन्यवाद देना चाहती हूं और उन्हें भी जो यहां मेरी हौसला अफजाई कर रहे थे.'
HIMA-DAS-WON-GOLD-MEDAL2.JPG
हिमा दास से पहले सबसे अच्छा प्रदर्शन मिल्खा सिंह और पीटी उषा का रहा था. पर हिमा ने सबको पीछे छोड़ इतिहास रचा है. हिमा के इस प्रदर्शन के बाद एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने हिमा दास को बधाई दी है. वहीँ पीएम नरेंद्र मोदी ने भी हिमा दस को ट्वीट कर बधाई दी है.उन्होंने ट्वीट में लिखा कि 'भारत को हिमा दास पर गर्व है, जिन्होंने 400 मीटर दौड़  में ऐतिहासिक स्वर्ण जीता। उसे बधाई... ह उपलब्धि आने वाले वर्षों में युवा एथलीटों को निश्चित रूप से प्रेरित करेगी।'

Find Us on Facebook

Trending News