गया में बोले राजनाथ सिंह , शिक्षक कर सकते हैं नए भारत का निर्माण

गया में बोले राजनाथ सिंह , शिक्षक कर सकते हैं नए भारत का निर्माण

GAYA : केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शिक्षकों की महत्ता समझाते हुए कहा कि किसी भी देश के विकास के लिए एक शिक्षक की भूमिका अहम होती है। शिक्षक चाहें तो वे नए भारत का निर्माण कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षक के द्वारा ही भारत एक बार फिर पूरे विश्व का गुरु बन सकता है। हमें पूरा विश्वास है कि शिक्षक अपनी कर्तव्य निष्ठा और श्रद्धा के साथ कार्य करें तो देश का विकास हो सकता है।गया के  गांधी मैदान में आयोजित अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के 28 महाधिवेशन में शिरकत करने पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ये बातें कहीं। राजनाथ सिंह ने कहा कि सबसे बड़े शिक्षक भगवान बुद्ध हुए, जिन्होंने पूरे विश्व को शांति का पाठ पढ़ाया।

2030 तक दुनिया के टॉप थ्री इकोनॉमी में  भारत 

सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि दुनिया में सबसे तेजी से भारत की अर्थव्यवस्था में बदलाव हो रहा है। एक समय था जब अर्थव्यवस्था के मामले में भारत का स्थान नौवां था। लेकिन, अब भारत छठे स्थान पर आ गया है। अगर यही स्थिति बनी रही तो 2030 तक भारत दुनिया के टॉप थ्री इकोनॉमी में शामिल हो जायेगा।

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज हमारी सरकार भारत को फिर से ताकतवर बनाने की कोशिश कर रही है । हम ऐसे भारत का निर्माण करना चाहते हैं, जो ज्ञानवान,चरित्रवान और धनवान हो। छात्रों को शिक्षा के साथ ही संस्कार मिले। उस संस्कार के दारा ही  भारत देश दुनिया में अपनी खोई हुई प्रतिष्ठा फिर से पा सकता है।

पाकिस्तान को करारा जवाब

राजनाथ सिंह ने कहा कि पड़ोसी देश पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से भी बाज नहीं आ रहा है। लेकिन, आश्वस्त रहें अपने देश का मस्तक कभी नीचा नहीं होने देंगे। पाकिस्तान को जवाब देने के लिए भारत कभी गोलियां नहीं गिनेगा। अगर बॉर्डर पार से पहली गोली चलती है, तो इसके बाद बीएसएफ के जवानों को आदेश है कि वह अपनी गोलियां नहीं गिने। 

Find Us on Facebook