पुलिस ने उग्रवादी समझकर चलाई गोली और मारा गया होमगार्ड का जवान, मुंगेर में पुलिस से फिर हुई चूक

पुलिस ने उग्रवादी समझकर चलाई गोली और मारा गया होमगार्ड का जवान, मुंगेर में पुलिस से फिर हुई चूक

मुंगेर। सोमवार को जिले के बरियारपुर थाने में हुई गोलीबारी की घटना में नया मोड़ आ गया है। यहां पुलिस  ने जिसपर उग्रवादी समझ कर गोली चलाई थी, दरअसल में वह होमगार्ड का जवान था और दो दिन पहले ही थाने में ड्यूटी ज्वाइन की थी। मामले में मुंगेर के एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने हमले को लेकर पूरी स्थिति साफ की है।

इस मामले में मुंगेर पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लो ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि होम गार्ड का एक जवान मो. जाहिद जो इन दिनों काफी डिप्रेशन में चल रहा था,वो अर्द्ध रात्रि में लगभग 11.45 बजे अपने बैरक से निकल कर थाना परिसर स्थित शौचालय में जाकर अचानक से गोली चलाना शुरू कर दिया। जिसे पुलिस द्वारा थाना पर आपराधिक /नक्सली घटना समझ कर जवाबी कार्रवाई की गई, जिसमें उक्त होम गार्ड जवान की मौत हो गई।

मृतक पर होगा एफआईआर

इस घटना की सूचना बिभाग के वरीय अधिकारियों के साथ साथ मुंगेर जिलाधिकारी रचना पाटिल, मानवायोग आदि को दे दी गई है और इस संदर्भ में बोर्ड का गठन किया गया है जिसकी देख रेख में उक्त होम गार्ड के शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। SP ने पत्रकारों को आगे बताया कि मृतक होम गार्ड जवान ने दो तीन दिनों पूर्व ही बरियारपुर थाना पर ड्यूटी पर आया था इसे 50 राउंड गोलियां लाइन से कमान पर मिली थी जिसमे 10 चक्र गोलियां इसने चलाई थी और पुलिस की तरफ से 23 गोलियां चली है। इस मामले में मृतक जवान के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

तीन माह में मुंगेर पुलिस से दूसरी चूक

पिछले तीन माह में मुंगेर पुलिस से चूक की यह दूसरी घटना है। इससे पहले पिछले साल दशहरा में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान भी पुलिस की गोली से एक युवक की मौत हो गई थी। जिसमें पुलिस ने भीड़ में चली गोली की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश की थी। इस घटना के कारण लगभग दस दिन तक मुंगेर दंगे की आग मे जलता रहा था।

Find Us on Facebook

Trending News