ऑनर किलिंग! बाप और चाचा ने मिलकर नाबालिक प्रेमी जोड़े को पहले रात भर पिटा, फिर सुबह होते ही कुल्हाड़ी से काट डाला, दहल उठा इलाका

ऑनर किलिंग! बाप और चाचा ने मिलकर नाबालिक प्रेमी जोड़े को पहले रात भर पिटा, फिर सुबह होते ही कुल्हाड़ी से काट डाला, दहल उठा इलाका

KANPUR :  यूपी के कानपुर से ऑनर किलिंग का ऐसा मामला सामने आया है, जिससे सुनने के बाद किसी की भी रूह कांप जाएगी। यहां एक पिता ने भाइयों संग मिलकर अपनी बेटी और उसके प्रेमी की कुल्हाड़ी से काटकर बेरहमी से हत्या कर दी। यह सब घटना युवक के मां बाप के सामने अंजाम दिया गया। वह रहम की गुहार लगाते रहे, लेकिन लेकिन किसी ने नहीं सुनी। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल की गई कुल्हाड़ी को जब्त कर लिया है। साथ ही आरोपी पिता को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

मामला कानपुर जिले के घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र के बिराहिनपुर गांव से जुड़ा है। मामले में बताया गया कि बिराहिनपुर के रहने वाले शिव आसरे शुक्रवार को पत्नी मीना के साथ बांदा स्थित ससुराल एक शादी में गए थे। देर रात 11 बजे शिवआसरे की नाबालिग बेटी ने गांव में ही रहने वाले प्रेमी शालू को अपने घर पर बुला लिया। दोनों के बीच लंबे समय से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। प्रेमी के घर आने की भनक पड़ोस में रहने वाले लड़की के चाचा दीपक को लग गई। उन्होंने दोनों को घर पर दबोच लिया।

चाचा ने रात भर की दोनों की पिटाई

घर में प्रेमी जोड़े को पकड़ने के बाद चाचा ने उन्हें एक कमरे में बांध दिया और पूरी रात दोनों की पिटाई करता रहा। इस पिटाई से दोनों कई बार बेहोश भी हुए। इतने पर भी उनका दिल नहीं भरा तो  इसकी सूचना युवती के पिता शिव आसरे को भी दे दी। वे भी सूचना मिलते ही बांदा से लौट आए। शनिवार सुबह 7 बजे तीनों भाइयों ने मिलकर दोनों की कुल्हाड़ी और चौपड़ से काटकर हत्या कर दी।

माता पिता के सामने युवक के किए टुकड़े-टुकड़े

मामले की जानकारी मिलते ही लड़के के पिता और उसकी मां लड़की के घर पहुंच गए। खिड़की से हाथ पैर जोड़कर चीखते-चिल्लाते रहे कि वे उनके इकलौते बेटे को छोड़ दो। अब ऐसे गलती दोबारा नहीं करेगा। लेकिन इसके बाद भी हत्यारों का दिल नहीं पसीजा और माता-पिता के सामने ही दोनों को कुल्हाड़ी से काट डाला। इस घटना के बाद शव की हालत देखकर गांव के लोगों का कलेजा कांप उठा। हर किसी की जुबान पर एक ही बात थी कि कितनी बेरहमी से काटा है, इन्हें नाबालिग बच्चों पर जरा सी भी दया नहीं आई। गलती की थी तो एक बार माफ कर सकते थे।

पिशाची पिता पहुंचा जेल
 थाना प्रभारी धनेश प्रसाद ने बताया कि मामले की जानकारी मिलते ही घाटमपुर थाने की फोर्स मौके पर पहुंची। मुख्य हत्यारोपी शिवआसरे को दबोच लिया। मौके से कुल्हाड़ी और चापड़ भी बरामद कर लिया। जबकि हत्यारे दोनों चाचा मौके से फरार हो गए।



Find Us on Facebook

Trending News