शेखपुरा में आयोजित हुआ गोल प्रतिभा खोज परीक्षा का सम्मान समारोह, 25 हज़ार छात्रों ने परीक्षा में लिया था हिस्सा

शेखपुरा में आयोजित हुआ गोल प्रतिभा खोज परीक्षा का सम्मान समारोह, 25 हज़ार छात्रों ने परीक्षा में लिया था हिस्सा

PATNA : गोल टैलेंट सर्च एग्जाम (जी.टी.एस.ई.) का आज सम्मान समारोह शेखपुरा में सम्पन्न हुआ। पटना जोन में शेखपुरा से सभी क्वालीफाईड और अवार्ड विनर्स स्टूडेंट के लिए यह आयोजित किया गया था। विदित है कि गोल संस्थान 25 वर्षों का अपना सफर इस वर्ष तय किया है। पिछले 12 वर्षों से इस परीक्षा का आयोजन 5 राज्यों में किया जाता रहा है। जिसमें बिहार, झारखण्ड, छत्तीसगढ़, वेस्ट बंगाल और उड़ीसा शामिल है। जी.टी.एस.ई. 2022 के दो चरणों के इस परीक्षा के प्रथम चरण में जहाँ 25,000 छात्रों ने भाग लिया। वहीं मेन एग्जाम में लगभग 18,000 छात्र क्वालीफाई किये थे। वेबिनार के माध्यम से उन चयनित छात्रों को रिजल्ट दिया गया। वहीं जोन लेवल पर चयनित छात्रों को पुरस्कार भी दिया जा रहा है।

शेखपुरा, जिला में सफल हुए छात्रों में से ‘संस्कार पब्लिक स्कूल’ शेखपुरा से शामिल हुए छात्रों को मेडल और सर्टीफिकेट देकर सम्मानित किया गया। सफल हुए छात्रों में वर्ग 8वीं के स्मृति पटेल, सुजीत कुमार, सोनाली कुमारी, रौशनी कुमारी, शिवानी प्रिया, वर्ग 10वीं के निशांत कुमार, सत्यम कुमार एवं वर्ग 11वीं बॉयोलॉजी ग्रुप के अर्नव वत्स शामिल हैं। शेखपुरा से ही ‘संत- कोलम्बस पब्लिक स्कूल’ से अवार्ड विनर्स रहे वर्ग 7वीं के रितिक शाक्षी एवं कुमार पीयूष दोनों ही छात्रों को पुरस्कार स्वरूप बैग एवं मेडेल और सर्टिफिकेट दिया गया। इसी स्कूल से लगभग 60 ऐसे छात्र रहें। जिन्होनें जी.टी.एस.ई. में बेहतर प्रदर्शन कर मेडल और सर्टीफिकेट जीता।

गोल संस्थान के मैनेजिंग डायरेक्टर बिपिन सिंह का कहना है कि प्रतिभा उम्र की मोहताज नहीं होती। आज के इस प्रतिस्पर्धी युग में स्कूल की पढ़ाई के साथ कम्पीटीशन की भी तैयारी छात्र साथ में करते हैं। सभी सफल हुए छात्रों को बधाई देते हुए उन्होनें कहा कि पिछले 12 वर्षों में जी.टी.एस.ई. में सफल हुए हजारों छात्रों ने नीट, जे.ई.ई., आई.आई.टी., सिविल सर्विसेज तथा अन्य राष्ट्रीय स्तर के प्रतियोगिता परीक्षाओं में सफलता हासिल किया है। सभी छात्रों की सफलता का श्रेय छात्रों के कड़ी मेहनत, लगन, दृढ़ इच्छाशक्ति को दिया। साथ ही उन सभी अभिभावकों और शिक्षकों को भी धन्यवाद दिया। जिनके मेहनत और सही मार्गदर्शन के कारण आज छात्रों ने जी.टी.एस.ई. में सफलता प्राप्त किया है।

गोल संस्थान के रिसर्च एण्ड डेवलपमेन्ट हेड रहे आनंद वत्स छात्रों को पुरस्कृत करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। साथ ही कहा कि गोल संस्थान के तरफ से आयोजित की जाने वाली जी.टी.एस.ई. परीक्षा गोल संस्थान का (सी.एस.आर.) प्रोग्राम है जो विगत 12 वर्षों से आयोजित किया जाता रहा है। वैसे छात्र जो मेडिकल या इंजिनियरिंग की तैयारी करना चाहते हैं उनके लिए जी.टी.एस.ई. के आधार पर स्कॉलरशिप दिया जाता है। जिसके आधार पर वह गोल के क्लासरूम प्रोग्राम में एडमीशन ले सकते हैं। साथ ही उन सभी छात्रों के लिए भी एक सुनहरा मौका है कि गोल के स्कॉलरशीप-कम-एडमीशन टेस्ट में भाग लेकर गोल के विभिन्न क्लासरूम प्रोग्राम में एडमिशन लेकर पढ़ाई कर सकते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News