बिहार विधानसभा में डिप्टी CM तारकिशोर और तेजस्वी में पहली बार भिडंत, भारी बवाल के बीच सदन स्थगित

बिहार विधानसभा में डिप्टी CM तारकिशोर और तेजस्वी में पहली बार भिडंत, भारी बवाल के बीच सदन स्थगित

PATNA: बिहार विधानसभा में प्रश्नकाल खत्म होने के बाद शून्यकाल की कार्यवाही शुरू हुई। राजद ने प्रश्नकाल का बहिष्कार किया था जैसा ही शून्यकाल की कार्यवाही शुरू हुई राजद सदस्य फिर से सदन में पहुंच गये और शराबबंदी पर कार्य स्थगन प्रस्ताव दिया. राजद सदस्य रेखा देवी की तरफ से कार्य स्थगन का प्रस्ताव दिया गया। राजद विधायक के कार्यस्थगन को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पढ़ना चाहते थे। रेखा देवी ने कहा कि मेरा प्रस्ताव नेता प्रतिपक्ष पढ़ेंगे। विस अध्यक्ष ने इसकी अनुमति भी दे दी। लेकिन सत्ता पक्ष ने इस पर विरोध दर्ज किया। पहली दफे डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और तेजस्वी यादव में सीधी भिडंत हो गई। भारी बवाल के बीच सदन को 12.15 बजे ही 2 बजे तक के लिए स्थगित करना पड़ा। 

सत्ता पक्ष ने किया विरोध

 दरअसल रेखा देवी का कार्यस्थगन तेजस्वी यादव ने पढ़ना शुरू किया तो मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि यह गलत परंपरा की शुरूआत हो रही है। उन्होंने कहा कि जिन सदस्य का कार्यस्थगन प्रस्ताव है वो हीं पढ़ें।क्यों कि नियम यही है। तब विस अध्यक्ष ने हां नियम तो यही है और उन्हें पढ़ना चाहिए। विरोध के बाद नेता प्रतिपक्ष बिना बोले ही बैठ गये और रेखा देवी ने अपना कार्यस्थगन प्रस्ताव पढ़ी। रेखा देवी ने कार्यथग में मांग किया कि शराबबंदी फेल है और मंत्री ही शराब के कारोबार में लगे हैं। वैसे मंत्रियों पर कार्रवाई हो और सरकार इस बारे में जवाब दे।

मंत्री रामसूरत राय के पिता का नाम लेने पर बिफरे डिप्टी सीएम 

रेखा देवी के कार्य स्थगन प्रस्ताव खत्म होने के बाद तेजस्वी यादव बोलने लगे। उन्होंने मंत्री रामसूरत राय के पिता के नाम का उल्लेख किया। इसके बाद डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद खड़े हो गये और हंगामा करने लगे। उन्होंने कहा कि तेजस्वी गलत काम कर रहे। किन्ही के पिता के नाम का उल्लेख करना पूरी तरह से गलत है। तेजस्वी यादव ने कहा कि हमन कोई गलत नहीं बोल रहे। स्कूल में शराब मिलने के मामले में मंत्री की भूमिका है। स्कूल उनका ही और उनके भाई पर केस दर्ज हुआ है। 

Find Us on Facebook

Trending News