कोरोना के खतरे के बीच उत्तर प्रदेश में वर्चुअल चुनावी रैली के लिए कितनी तैयार हैं राजनीतिक पार्टियाँ, भाजपा ने बताई अपनी रणनीति

कोरोना के खतरे के बीच उत्तर प्रदेश में वर्चुअल चुनावी रैली के लिए कितनी तैयार हैं राजनीतिक पार्टियाँ, भाजपा ने बताई अपनी रणनीति

दिल्ली. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने वर्चुअल रैली की योजना भी बना रखी है. इसके लिए पार्टी के नेता और उनकी वर्चुअल टीम ने काम करना शुरू कर दिया है. हालाँकि इस संबंध में अभी पार्टी की ओर से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है लेकिन पार्टी ने इसका इशारा दिया है. 

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने बुधवार को कहा है कि वर्चुअल रैली के लिए BJP तैयार है। हमने बंगाल के चुनाव में भी वर्चुअल रैली की थी। कोविड के दौरान जब दुनिया की सभी राजनीतिक पार्टियां हाइबरनेशन में थी उस समय भी BJP के कार्यकर्ता और पार्टी के सभी लोग वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर काम कर रहे थे. 

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग हेल्थ सेक्रेटरी और एक्सपर्ट्स के साथ बात कर रहा है। चुनाव कैसे, कब और किन नीतियों के साथ होगा और क्या पांबदियां होंगी ये फैसला करना चुनाव आयोग का काम है। आयोग जो फैसला करेगा वो सभी पार्टियों के लिए सामान्य रूप से लागू होगा. 

उन्होंने कहा कि अगर वर्चुअल रैली का विकल्प अपनाने की बात की जाती है हम उससे पीछे नहीं हटेंगे. उन्होंने बंगाल के चुनावों का उदाहरण देते हुए कहा कि उस समय भी राजनीतिक रैलियों को लेकर कई प्रकार की पाबंदियों को लागू किया गया था. भाजपा ने उस अनुरूप अपनी चुनावी तैयारी को आगे बढ़ाते हुए वर्चुअल रैली की. इस बार भी अगर कुछ ऐसा होता है तो हम वर्चुअल रैली के लिए पूरी तरह तैयार हैं. 

दरअसल उत्तर प्रदेश चुनाव पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है. इन दिनों नेताओं की रैलियों में जिस प्रकार की भीड़ उमड़ रही है उससे कोरोना संक्रमण बढने का खतरा बढ़ गया है. उसे देखते हुए अब कोरोना से निपटने के लिए चुनाव को रोक या इसके लिए अन्य विकल्पों को अपनाने की बात की जा रही है. इसमें वर्चुअल रैली का विकल्प भी शामिल है. 


Find Us on Facebook

Trending News