कैसे खत्म हो बाल मजदूरी : बोकारो में बाल श्रमिक उन्मूलन अभियान को सफल बनाने पर हुई चर्चा

कैसे खत्म हो बाल मजदूरी : बोकारो में बाल श्रमिक उन्मूलन अभियान को सफल बनाने पर हुई चर्चा

BOKARO : मंगलवार को बोकारो जिले में बाल श्रमिक उन्मूलन अभियान को सफल बनाने के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया. पुलिस अधीक्षक सभागार में जिला पुलिस बोकारो की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में झारखण्ड ग्रामीण विकास ट्रस्ट, धनबाद और बचपन बचाओ आंदोलन के पदाधिकारी और जिले के सभी थाना प्रभारी शामिल हुए. 

प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक पी मुरुगन ने कहा कि बच्चे ही देश के भविष्य हैं. इनका भविष्य बचाना हम सभी की जिम्मेवारी है. आज के प्रशिक्षण शिविर का मुख्य उद्देश्य बाल श्रमिकों को चिन्हित कर उन्हें पुनर्वास से जोडना है ताकि बच्चों का भविष्य उज्जवल हो सके. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हम हर उस बच्चे के प्रति जवाबदेह हैं जो आज स्कूल में नहीं हैं. 

उन्होंने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिया कि थाना स्तर पर इस मामले पर कार्रवाई सुनिश्चित करे. बचपन बचाओ आंदोलन और झारखंड ग्रामीण विकास ट्रस्ट के अध्यक्ष शंकर रवानी ने कहा कि बाल मजदूरी कराना कानूनी जुर्म है. हम सभी को मिलकर बाल मजदूरी को समाप्त कर बाल श्रमिकों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ना है. उन्होंने कहा कि जहाँ बचपन आजाद नहीं, उस दुनिया में अमन चैन की कल्पना करना बेईमानी है. 

कार्यशाला में सहायक पुलिस अधीक्षक, सभी पुलिस उपाधीक्षक के अलावे बाल कल्याण समिति, बेंच ऑफ मजिस्ट्रेट झारखंड सरकार के प्रीति कुमारी, सुधीर कुमार, बाल कल्याण समिति बोकारो के पूर्व सदस्य डॉ प्रभाकर कुमार, बचपन बचाओ आंदोलन और झारखण्ड ग्रामीण विकास ट्रस्ट के अजय कुमार तिवारी, प्रियदर्शनी यादव, बाल गृह के अधीक्षक ओम प्रकाश उपस्थित थे.

बोकारो से मृत्युंजय की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News