आंगनबाड़ी केंद्र व स्कूल में मिली भारी अनियमितता, डीएम ने डीपीओ,सीडीपीओ,पर्यवेक्षिका व बीईओ के वेतन पर लगायी रोक

आंगनबाड़ी केंद्र व स्कूल में मिली भारी अनियमितता, डीएम ने डीपीओ,सीडीपीओ,पर्यवेक्षिका व बीईओ के वेतन पर लगायी रोक

MOTIHARI : जिले के शिक्षा विभाग में आए दिन किसी न किसी प्रकार की बड़ी गड़बड़ी की शिकायत सामने आती रहती है। लेकिन अब इन गड़बड़ियों को खुद जिले के डीएम ने अपनी आंखों से देख लिया है। जिसके बाद उन्होंने डीपीओ,सीडीपीओ,पर्यवेक्षिका व बीईओ के वेतन पर लगाया रोक लगा दी है। डीएम की कार्रवाई से आईसीडीएस व शिक्षा विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है।

दरअसल, हरसिद्धि प्रखंड क्षेत्र के गायघाट पंचायत में बुधवार को मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक के द्वारा सरकार के द्वारा संचालित अलग-अलग योजनाओं की जांच की गयी.   डीएम  द्वारा पंचायत में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र संख्या 224 पर पहुंचे, जहां स्थिती बिल्कुल ही संतोषजनक नहीं थी. केन्द्र पर मात्र 7 बच्चें मौजूद थे और सरकार के द्वारा तय किये गये मानक पर केन्द्र खड़ा नहीं उतर रहा था. इसके बाद उन्होने तत्काल आदेश देते हुए बाल विकास परियोजना के डीपीओ, हरसिद्धि सीडीपीओ और गायघाट पंचायत की महिला पर्यवेक्षिका का वेतन तत्काल रोकते हुए स्पष्टीकरण की मांग की है. 

इसी प्रकार गायघाट हाई स्कूल की कुव्यवस्था देख भी डीएम काफी नाराज दिखे और उन्होंने प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से भी स्पष्टीकरण करते हुए उनके वेतन पर रोक लगा दी. स्कूल और आंगनबाड़ी की जांच के बाद डीएम श्री अशोक के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना, नलजल योजना, विद्युत से पटवन, उर्वरक की उपलब्धता आदि की बारी-बारी से जांच की. 

इसके साथ ही, प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि वैसे लाभुक जो राशि का उठाव कर घर का निर्माण नहीं किये है, उनके विरूद्ध निलामपत्र दायर किया जाये. साथ ही, किसानो को आवश्यकता के अनुसार उर्वरक की उपलब्धता कराने का निर्देश जिला कृषि पदाधिकारी को दिया गया.  जांच के दौरान धान अधिप्राप्ति के संबंध में भी आवश्यक चर्चा की.लोगों से किया सीधा संवाद कर समस्या सुनकर उसका त्वरित निष्पादन का निर्देश दिया गया।

डीएम ने नल का जल सभी घरों में मुहैया कराने हेतु उन्होंने संबंधित पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि 6 से 9:00 बजे पूर्वाह्न एवं 4 से7:00 अपराह्न तक पानी की सप्लाई सुनिश्चित की जाए ।सभी वार्ड सदस्यों  से उन्होंने कहा कि स्वेच्छा से ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन का कार्य बेहतर तरीके से  किया जाए, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में भी स्वच्छता बनी रहे। उन्होंने कहा कि कृषि कार्य हेतु विद्युत फीडर का कार्य शीघ्र पूर्ण किया जाएगा । 

ग्रामीणों को आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा कि उर्वरक की कोई कमी नहीं हैखाद्य सही दाम पर मुहैया कराए जाएंगे। पंचायत सरकार भवन निर्माण हेतु चिन्हित जमीन को स्वयं देखने पहुंचे। जीयोटैग पीपल के पुराने वृक्ष की सुरक्षा हेतु उन्होंने मिट्टी भराई का निर्देश संबंधित पदाधिकारी को दिया। 

इस अवसर पर मुखिया , सभी वार्ड पार्षद, जिला गन्ना पदाधिकारी, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा, समन्वयक ग्रामीण विकास मिशन, विशेष कार्य पदाधिकारी गोपनीय शाखा ,प्रखंड विकास पदाधिकारी, थाना अध्यक्ष, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, आवास सहायक, आवास पर्यवेक्षक, मनरेगा कार्यक्रम पदाधिकारी,  प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी के साथ-साथ स्थानीय गणमान्य ग्रामीण उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News