हुजूर पटना की सड़कों पर सम्भल कर चलिएगा, यहां का मेनहोल बिना ढक्कन का है

हुजूर पटना की सड़कों पर सम्भल कर चलिएगा, यहां का मेनहोल बिना ढक्कन का है

PATNA : बरसात बस आने वाला है,नगर निगम पटना को नरक बनाने की पूरी तैयारी कर चुका है। एक तरफ जहां बड़े नालों की सफाई अधूरी है वहीं 29 हजार मेनहोल में 1हजार में मेनहोल बगैर ढक्कन का है। 

जलजमाव की स्थिति में अगर बगैर ढक्कन वाले मेनहोल पर पैर पड़ा तो समझिये नगर निगम के सौजन्य से सदगति मिलना तय है। ऐसे हादसों से पटना दो-चार हो चुका है। लेकिन इससे नगर निगम को कोई फर्क नहीं पड़ता। 

गौरतलब है कि राजधानी में 29 हजार मेनहोल है जिसमे से अभी तक एक हजार मेनहोल पर या तो ढक्कन गायब है या फिर क्षतिग्रस्त है। 

बता दें कि पटना के सड़कों पर औसतन 10 मीटर पर एक मेनहोल है और प्रति 200 मीटर पर एक चैंबर। सारे मेनहोल पर नियमों के मुताबिक ढक्कन लगा हुआ होना चाहिये। वीआईपी इलाकों में तो यह सब दुरुस्त दिखता है, लेकिन मध्यम और निम्न आबादी वाले इलाके में स्थिति गड़बड़ है। 

पाटलिपुत्र अंचल में तो प्रत्येक 10 मेनहोल में से एक मेनहोल खुला है। नगर निगम का कहना है कि जल्द ही सर्वे कराकर सभी मेनहोल को ढक दिया जाएगा। 

हद है भला बताइए कि मानसून सर पर है और नगर निगम सर्वे की सोच रहा है। इसलिये पटना की सड़कों पर चलना है तो इस कथन को ध्यान में रखियेगा...सावधानी हटी दुर्घटना घटी।

Find Us on Facebook

Trending News