शराब के मामले में जेल में है बंद महिला की बिगड़ी हालत, पति ने पत्नी को खून देने से किया इनकार

 शराब के मामले में जेल में है बंद महिला की बिगड़ी हालत, पति ने पत्नी को खून देने से किया इनकार

NAWADA : नवादा से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां का सात जन्म निभाने वाले पति ने ही अपनी ही पत्नी को खून देने से इंकार कर दिया जिसके बाद जेल के अधिकारियों के द्वारा बेहतर पहल कर महिला को खून उपलब्ध कराया गया। मामला शुक्रवार का है जहां नवादा के मंडल कारा में कंचन राजवंशी की पत्नी संगीता देवी की तबीयत बिगड़ने के बाद नवादा के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान डॉक्टर ने कहा कि महिला को खून की कमी है। तो तुरंत  जेल सुपरिटेंडेंट अजीत कुमार के द्वारा संगीता देवी के पति कंचन राजवंशी से संपर्क किया गया। परिवार के लोग अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टर ने पूरी जानकारी दी। जिसके बाद पति ने खून देने से खुद ही इंकार कर दिया कहा हम खून नहीं दे सकते हैं। 

इस मामले की जानकारी जेल सुपरिटेंडेंट अजीत कुमार को मिला तुरंत उन्होंने इस मामले में बेहतर पहल करते हुए छत्रपति शिवाजी के जितेंद्र प्रताप जीतू से संपर्क कर कंचन देवी को दो यूनिट ब्लड उपलब्ध कराया है। जिसके बाद महिला की हालत ठीक बताई जा रही है। जेल सुपरिटेंडेंट अजीत कुमार ने कहा कि पति ने जब खून देने से इनकार किया तो जितेंद्र प्रताप जीतू से संपर्क कर महिला को खून दिया गया है। वही कंचन राजवंशी ने बताया कि पत्नी पर शराब बेचने का आरोप लगा था और 13 दिसंबर से ही जेल में बंद है। आरोप है कि मेरे घर में 7 लीटर देसी शराब पकड़ा गया था। 

मामला जुलाई महीना 2022 का ही है। मेरे घर में किसी ने शराब रखने दिया और मेरे पत्नी को फंसा दिया था। काफी दिनों से फरार चल रही थी। अंत में आकर अपनी पत्नी को कोर्ट में सरेंडर करवा कर जेल भेजे दिये और फिर हमारी पत्नी की तबीयत खराब हो गई। हालांकि जेल सुपरिटेंडेंट के द्वारा बहुत अच्छा इलाज के लिए सुविधा दी जा रही है। जिसके कारण ही मेरी पत्नी के स्थिति ठीक है। पति ने जेल प्रशासन की भी खूब तारीफ की कहा कि हम खून नहीं दे पाए और जेल के अधिकारियों ने मेरी पत्नी को खून देकर उन्हें नया जीवन दिया हैं।

Find Us on Facebook

Trending News