गर्भ निरोधक दवा नहीं काम किया तो खुला राज, चाचा ने दो सालों तक युवती के साथ किया दुष्कर्म, गर्भवती होने पर चौंकाने वाली बात आयी सामने

गर्भ निरोधक दवा नहीं काम किया तो खुला राज, चाचा ने दो सालों तक युवती के साथ किया दुष्कर्म, गर्भवती होने पर चौंकाने वाली बात आयी सामने

Desk. रिश्ते शर्मसार करने वाले एक नया मामला सामना आया है. एक चाचा ने युवती से दो सालों तक दुष्कर्म किया. इस दौरान आरोपी ने युवती को पांच बार गर्भ निरोधक दवायां दी. वहीं मामले का खुलासा तब हुआ जब वह गर्भवती हो गयी. आरोपी ने गर्भवती को गर्भ निरोधक दवाई दी, लेकिन इस बर यह दवा काम नहीं किया. इसके चलते युवती गर्भवती हो गयी. इसके बाद चोरी छुपे युवती का सात माह का गर्भपात करवाया गया है. इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को लगी तो युवती को अपने कब्जे में लेकर गर्भपात करने वाले डॉक्टर पर मामला दर्ज करवाया है.

हरियाणा के हिसार में 19 वर्षीय अविवाहिता का सात माह का गर्भपात करवाया गया है. मामले की सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची. टीम के वहां पर पहुंचने तक युवती का गर्भपात करवाया जा चुका था. अविवाहिता अपनी रिश्तेदारी में चाचा लगने वाले युवक द्वारा दुष्कर्म किए जाने से गर्भवती हुई है. युवती की हालत को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने युवती को मेडिकल कॉलेज में उपचार के लिए दाखिल करवाया.

बताया जा रहा है कि भिवानी के तिगड़ाना गांव निवासी युवक रिश्ते में युवती का चाचा लगता है. आपसी रिश्तेदारी होने के नाते युवक का युवती के घर आना जाना था, लेकिन उसके युवती से संबंध बन गए और वह पिछले दो सालों से युवती के साथ दुष्कर्म करता आ रहा था. युवक ने युवती को पहले भी 5 बार गर्भपात की दवाई दी थी, लेकिन इस बार दवाई ने काम नहीं किया और उसको गर्भ ठहर गया. युवती के परिवार के लोगों ने समाज की शर्म से बचने के लिए युवती का समय से पहले ही गर्भपात करवाने का फैसला लिया और इसके लिए उन्होंने अग्रोहा के एक निजी अस्पताल संचालक महिला डॉक्टर से संपर्क किया.


महिला डॉक्टर ने गर्भपात करवाने के लिए 40 हजार की मांग की. सौदा तय हो जाने पर युवती को परिवार के लोग शनिवार रात को अस्पताल में लेकर गए. शिकायत मिलने पर जिले के स्वास्थ विभाग की टीम ने मौके पर अस्पताल में छापा मारा तो महिला डॉक्टर युवती की डिलीवरी करवा रही थी. विभाग की टीम ने अस्पताल संचालिका से इस संबंध में कागजात दिखाने की मांग की, लेकिन वह कोई कागजात नहीं दिखा सकी. विभाग की टीम ने अस्पताल संचालिका के खिलाफ अधिनियम के तहत अग्रोहा थाना में शिकायत दी है.


Find Us on Facebook

Trending News