राजद के खिलाफ जदयू ने कुछ भी बोला तो छिन जाएगी सीएम नीतीश की कुर्सी, संजय जायसवाल का दावा – खौफ में है JDU

राजद के खिलाफ जदयू ने कुछ भी बोला तो छिन जाएगी सीएम नीतीश की कुर्सी, संजय जायसवाल का दावा – खौफ में है JDU

पटना. जदयू को राजद से डर लग रहा है. ऐसा कहना है बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल का, जिन्होंने शुक्रवर को कहा कि अगर राजद नेताओं के जदयू नेताओं ने कुछ भी बोला तो नीतीश कुमार की मुख्यमंत्री की कुर्सी छिन जाएगी. दरअसल, राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने एक दिन पहले कहा था कि वर्ष 2023 में तेजस्वी यादव बिहार के मुख्यमंत्री बनेंगे और नीतीश कुमार राष्ट्रीय राजनीति में सक्रिय होंगे. इस पर फ़िलहाल कोई भी जदयू नेता कुछ भी कहने से बच रहे हैं. इसी को लेकर अब संजय जायसवाल ने कटाक्ष किया है. 

उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा, जगदानंद सिंह जी डंके की चोट पे कह रहे हैं कि 2023 मे तेजस्वी यादव जी मुख्यमंत्री बनेंगे और नितीश कुमार जी दिल्ली जाएंगे। राजद का इतना ज्यादा खौफ जदयू के ऊपर है कि हर बात का जवाब देने वाले जदयू के नेता जी लोग डर के मारे मुंह भी नहीं खोल रहे हैं। कहीं कुछ निकल गया तो पता चलेगा कि रबर स्टांप मुख्यमंत्री का तगमा भी 2022 मे राजद न छीन ले।

जगदानंद सिंह के बयान पर जब शुक्रवार को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने संवाददाताओं को कहा कि आप प्रदेश अध्यक्ष से बात करें. वहीं प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने कुछ भी बोलने से परहेज किया. इतना ही नहीं जदयू के वरिष्ठ नेता और मंत्री अशोक चौधरी भी इस सवाल पर कुछ नहीं बोलने से बचते रहे. उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत विचार और बेतुके बयानों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देंगे. हालांकि उन्होंने कहा कि जदयू और राजद दोनों दलों के बीच तालमेल बढिया नहीं होने के सवाल पर कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. हमारे बीच कहीं कोई दिक्कत नहीं, मजबूती के साथ हमारा गठबंधन चल रहा है. भाजपा के लोग इस तरह की बेतुकी बातें करते हैं.

दरअसल, राजद नेता जगदानंद सिंह ने कहा था कि नीतीश कुमार की घोषणा के अनुसार ऐसा लग रहा है कि वे 2022 बीतने के बाद 2023 में देश की लड़ाई लड़ेंगे. नीतीश कुमार बिहार के भविष्य की लड़ाई तेजस्‍वी यादव के हाथों सौंप देंगे. आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि देश नीतीश कुमार का तो बिहार तेजस्‍वी यादव का इंतजार कर रहा है. उनके इस बयान से बिहार की राजनीति में अचानक से भूचाल आ गया. जहाँ जदयू के नेता इस पर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं वहीं राजद नेताओं की ओर से बार बार दोहराया जा रहा है कि नीतीश कुमार प्रधानमंत्री के मैटेरियल हैं.


Find Us on Facebook

Trending News