अपराध चरम पर था तो नहीं छपती थी खबर, कमी आई तो बनने लगे हेडलाइंस : नीतीश कुमार

अपराध चरम पर था तो नहीं छपती थी खबर, कमी आई तो बनने लगे हेडलाइंस : नीतीश कुमार

PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज सदन में प्रदेश में 2011 से अबतक हुए अपराध के आंकड़े को पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में लॉ एंड ऑर्डर को लेकर बहुत हंगामा होता है। जबकि 2011 से अबतक के आंकड़े को देखा जाए तो राज्य का कानून व्यवस्था पूरी तरह से बदल गया है। 

उन्होंने कहा कि राज्य में हत्या, लूट और अपहरण के मामले में भारी कमी आई है। फर्क सिर्फ इतना है कि पहले अपराध होने पर खबर नहीं छपती थी अब अपराध नहीं होने पर खबरे छप रही है। राष्ट्रीय स्तर पर अपराध के मामले में जहां बिहार राष्ट्रीय स्तर पर सबसे उपर रहा करता था वह आज 22 वें स्थान पर है। 

सीएम ने कहा कि समाज अपराध मुक्त हो यह आदर्श कल्पना है। लेकिन इसके लिए सभी को काम करना होगा। सरकार प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने के लिए काम कर रही है। थानावार लॉ एंड ऑर्डर की समीक्षा हुई है। किस जिले और इलाके में ज्यादा हत्या या लूट की घटना हुई है इसे देखा गया है। आपराधिक मामलों को हिसाब से थानों की ग्रेडिंग की गई है। गृह विभाग ने मुझे आश्वस्त किया है कि एक महीने के अंदर सभी थानों में अनुसंधान के लिए अलग टीम होगी। अपराध पर पूरी तरह से लगाम लगेगा। 

वहीं उन्होंने मॉब लिंचिग के मामले पर बोलते हुए कहा कि बिहार में मॉब लिंचिग के मामले न के बराबर है। किसी के घर में चोरी और चोर की पिटाई मॉब लिंचिग नहीं है। सीएम ने कहा कि भीड़ में इक्ठ्ठा होकर किसी की हत्या कायर लोग करते है। इसके खिलाफ अभियान चलना चाहिए। 

गणेश सम्राट की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News