सृजन घोटाला : IG अमित जैन और उनके रिश्तेदार के अकाउंट में क्यों डाले गए 27 लाख रुपये ? देखिए वीडियो 

News4NATION : भागलपुर के पूर्व डीआईजी और वर्तमान में पटना के IG (आधुनिकीकरण) अमित कुमार जैन और उनके एक रिश्तेदार के खाते में सृजन के खाते से 27 लाख रुपए डाले जाने का खुलासा हुआ है. खुलासा SBI की जारी जांच रिपोर्ट से हुआ है. IG अमित जैन के अलावा भागलपुर के तत्कालीन जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार की पत्नी इंदू गुप्ता, नाजिर महेश मंडल और पीरपैंती के बीडीओ चंद्रशेखर झा के बैंक खाते में भी लाखों रुपए RTGS के जरिए डाले गए. खबरों के मुताबिक घोटाले में साथ देने वाले अफसरों के निवेश पर सृजन दस परसेंट का इंट्रेस्ट देता था.  IPS अमित जैन और मसाला का कारोबार करने वाले उनके एक रिश्तेदार ने घोटाले के खुलासे से पहले ही अपने 27 लाख रुपए आरटीएस के जरिए सृजन से वापस ले लिए. सवाल अब ये है कि आखिर इतनी बड़ी रकम इनके खाते में क्यों डाले गए?

आरटीजीएस से  भेजी गई थी सारी रकम

सीबीआई की जांच रिपोर्ट के अनुसार अप्रैल 2017 में आईपीएस अमित जैन के खाते में दो बार में 15 लाख रुपए आरटीजीएस किये गए थे.  कल्याण पदाधिकारी की पत्नी इंदू गुप्ता ने भी घोटाले के पर्दाफाश होने से पहले ही 1.20 करोड़ रुपए सृजन से अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिए थे. नाजिर महेश मंडल ने 30 लाख रुपए व पीरपैंती के बीडीओ चंदशेखर ने 1.20 लाख वापस लिए.

IG अमित जैन के खाते में भेजे गए थे 15 लाख

रिपोर्ट के मुताबिक, 11 अप्रैल 2017 को अमित कुमार जैन के खाता संख्या 0095104000092108 में आरटीजीएस टोकन नंबर बीएआरबीएच 17101807482 से छह लाख रुपये ट्रांसफर किए गए थे. सृजन के इसी अकाउंट से 12 अप्रैल 2017 को भी नौ लाख रुपये आरटीजीएस टोकन नंबर बीएआरबीएच 17102776895 से इसी खाते में ट्रांसफर हुए थे.

अमित जैन के रिश्तेदार राजेश जैन को मिले थे 12 लाख

जांच रिपोर्ट के मुताबिक, अमित के रिश्तेदार राजेश जैन के खाता संख्या 12072191006654 में 24 अप्रैल 2017 को आरटीजीएस टोकन नंबर बीएआरबीएच 17114857531 से छह लाख रुपये और 8 मई को भी इसी अकाउंट से छह लाख रुपये आरटीजीएस टोकन नंबर बीएआरबीएच 17128755461 से ट्रांसफर किए गए थे.  हालांकि अमित जैन ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को गलत बताया है. 


Find Us on Facebook