आईजी के भाई और मुखिया पति ने एसएसपी पर मारपीट करने का लगाया आरोप, कोर्ट ने थाना को प्राथमिकी दर्ज का दिया निर्देश

आईजी के भाई और मुखिया पति ने एसएसपी पर मारपीट करने का लगाया आरोप, कोर्ट ने थाना को प्राथमिकी दर्ज का दिया निर्देश

MOTIHARI : आईजी के भाई सह मुखिया पति ने मोतिहारी एएसपी अभियान पर गम्भीर आरोप लगाया है। उन्होंने मतगणना के दौरान नशे में धुत होकर मारपीट कर पैर तोड़ने का आरोप लगाया है। पीड़ित के आवेदन पर कोर्ट में छतौनी थाना में एएसपी अभियान पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया है।आवेदनकर्ता कोटवा प्रखंड के जसौली पट्टी के अवधेश सिंह बताए जा रहे है। अवधेश सिंह के भाई राजस्थान में पुलिस विभाग में आईजी के पद पर कार्यरत है। वही उनकी पत्नी मुखिया निर्वाचित हुई है। वह दो बार कोटवा प्रखण्ड के प्रखण्ड प्रमुख भी रह चुके है। घटनास्थल छतौनी स्थित मतगणना केंद्र डायट बताया गया है। वही एएसपी अभियान ने ओमप्रकाश सिंह द्वारा लगाये गए आरोप को निराधार बताया है। 

छतौनी थाना क्षेत्र के छतौनी डायट भवन स्थित मतगणना केंद्र पर गत शुक्रवार को एएसपी अभियान ओमप्रकाश सिंह ने मुखिया पति की पीटाई कर दी। इस दौरान कोटवा थाना क्षेत्र के जसौली पंचायत के जसौली जमुनिया गांव निवासी मुखिया पति अवधेश सिंह का पैर टूट गया। पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करने पर अब मामला न्यायालय पहुंचा है। अवधेश सिंह के द्वारा दिए गए परिवाद पर उत्पाद अधिनियम के विशेष न्यायाधीश ब्रजमोहन सिंह ने गुरुवार को मामले की सुनवाई के बाद एएसपी अभियान ओमप्रकाश सिंह पर छतौनी थाना में प्राथमिकी का निर्देश दिया है। न्यायालय में दिए परिवाद में अवधेश सिंह ने कहा है कि वह दो बार कोटवा प्रखंड के प्रमुख रह चुके हैं। जसौली पंचायत से उनकी पत्नी मीरा देवी ने मुखिया पद पर चुनाव लड़ा था, जिसमे वह निर्वाचित भी हुई है। 

मुखिया के मतगणना के दौरान वह एलेक्शन एजेंट थे काउंटिंग एजेंट भी थे। प्रशासन द्वारा निर्गत पास के साथ वह प्रतिक्षालय में उपस्थित थे। तभी अचानक पहुंचे एएसपी ने सार्वजनिक स्थल पर उनके साथ गाली-गलौज करते हुए केस में फंसाने की धमकी दी। इसके बाद लाठी से उनपर प्रहार कर दिया। इससे उनका पैर टूट गया। जिसका इलाज शहर के एक निजी नर्सिंग होम में कराया गया। इसके साथ ही अवधेश सिंह ने आरोप लगाया है कि एएसपी शराब के नशे में थे, जो गाली-गलौज कर मारपीट किए। मामले में धारा 323, 325, 327, 341, 352, 500, 504 व 30 ए के तहत परिवाद दायर किया गया है। वहीं अवधेश सिंह ने डाक के माध्यम से एसपी सहित अन्य अधिकारियों को आवेदन भेजा है। बताया जाता है कि अवधेश सिंह के भाई राजस्थान में आइजी हैं। इधर एएसपी अभियान ओमप्रकाश सिंह ने लगाए गए आरोप को निराधार बताया है। कहा कि प्रतिक्षालय से नीचे उतरने के दौरान गिरने से जख्मी हुए होंगे।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News