IICM कर्मचारियों का आरोप : कांके कैंपस साइट में काम कर रहे कर्मचारियों पर मंडरा रहा कोरोना का खतरा, प्रबंधन नहीं कर रहा उपाय

IICM कर्मचारियों का आरोप : कांके कैंपस साइट में काम कर रहे कर्मचारियों पर मंडरा रहा कोरोना का खतरा, प्रबंधन नहीं कर रहा उपाय

RANCHI : इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ कोल मैनेजमेंट  लिमिटेड (आईआईसीएम) कांके कैंपस में अलग अलग साइट में काम करने वाले कर्मचारियों ने प्रबंधन पर बड़ा आरोप लगाया है। कर्मचारियों का कहना है कि गांधीनगर हॉस्पिटल के  डॉक्टर स्टाफ जिनको यहां रखा जा रहा  हैं। उसमें कई कोरोना के संक्रमित पाए गए जिनकी संख्या एक दर्जन से ज्यादा हो गई है, बावजूद प्रबंधन की ओर से काम करने वाले कर्मचारियों के लिए ना तो सुरक्षा कीट उपलब्ध कराया गया है ना ही सुरक्षा के दृष्टिकोण से कोई कारगर कदम उठाए जा रहे है।

इधर इन सारे मुद्दों को लेकर आईआईसीएम श्रमिक संघ के अध्यक्ष अजय राय ने कर्मचारियों से सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मीटिंग की। मीटिंग  के उपरांत आईएसीएम के ईडी और प्रिंसिपल एंपलॉयर से इस संबंध में बात की और उन्हें एक मेमोरेंडम   भी दिया।

अजय राय ने कहा कि तत्काल इन कर्मचारियों को सुरक्षा कीट और पूरे कैंपस का प्रॉपर सैनिटाइजेशन और कोविड-19 को देखते हुए सभी कर्मचारियों का ग्रुप इंश्योरेंस एवं गांधीनगर अस्पताल में मेडिकल की सुविधा दी जाए ।

उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के जानमाल की रक्षा करना प्रबंधन की जिम्मेवारी है। मगर यहां जिस तरह सुरक्षा की अनदेखी की जा रही है उससे कर्मचारियों का जीवन खतरे में पड़ सकता है।  

अजय राय ने कहा कि पूर्व में भी अलग-अलग साइट के कई कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित पाए गए और हमने पूरे कैंपस के कर्मचारियों एवं अधिकारियों की प्रॉपर कोरोना वायरस से बचाव के उपाय की मांग भी की थी बावजूद भी उसकी अनदेखी की गई। मगर अब इस पर चुपचाप नहीं बैठा जा सकता। 

उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात को देखते हुए इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है कि यहा कभी भी कोई बड़ी घटना घट सकती है इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता। 

रांची से मो. मोइजुद्दीन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News