सफेदपोशो की मिली भगत से मुजफ्फरपुर में चल रहा है शराब का अवैध कारोबार, 154 कार्टन शराब जब्त

सफेदपोशो की मिली भगत से मुजफ्फरपुर में चल रहा है शराब का अवैध कारोबार, 154 कार्टन शराब जब्त

MUZAFFARPUR : जिले में सफेदपोश और अपराधियों की मिली भगत से शराब की तस्करी धड़ले से हो रही है। बताया जा रहा है कि इस गठजोड़ के कारण बड़े पैमाने पर स्थानीय स्तर पर बनी नकली शराब की बिक्री जिले में हो रही है। इस नकली शराब से बड़े हादसे की आशंका से प्रशासनिक महकमा चिंतिंत हो उठा है। पुलिस और उत्पाद विभाग की टीम ने जिले के मोतीपुर थाने के झिंगहा में 44 कार्टन, शहर के भगवानपुर यादव नगर में 15 कार्टन और पारू में 42 कार्टन विदेशी ब्रांड की नकली शराब जब्त की है। इस नकली शराब में अल्कोहल की मात्रा मानक से 20 से 25 प्रतिशत अधिक है। 


ILLEGAL-LIQUOR-OF-WHITE-ROBES-IS-BEING-RUN-IN-MUZAFFARPUR-ILLEGAL-LIQUOR-TRADE2.jpg
उत्पाद अधीक्षक दीनबंधु ने बताया कि मोतीपुर में बरामद शराब देखने से ही नकली व स्थानीय स्तर पर निर्मित लग रही है। शराब का कलर फेंट हो चुका है और लेबल भी घटिया किस्म की है। हालांकि, लेबल अरुणाचल प्रदेश के नामी ब्रॉन्ड का लगाया गया है। उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि दो दिन पहले मोतीपुर के झिगहां गांव के शराब तस्कर जीतेंद्र राय ने दियारा इलाके से शराब की बड़ी खेप लाई है। 

ILLEGAL-LIQUOR-OF-WHITE-ROBES-IS-BEING-RUN-IN-MUZAFFARPUR-ILLEGAL-LIQUOR-TRADE4.jpg
सूचना के बाद जीतेंद्र राय के घर के पीछे मुर्गी पालन केंद्र के पास छापेमारी की गई। जहां मक्के के नीचे छिपाकर रखी गई 44 कार्टन शराब बरामद की गई। हालांकि छापामारी की सूचना मिलते ही शराब तस्कर जीतेंद्र व उसके आदमी फरार हो गए। 

मोतीपुर, भगवानपुर के यादव नगर व पारू में जब्त शराब के मामले में अपराधी और सफेदपोश का हाथ बताया जा रहा है। जिले के एक सफेदपोश के रिश्तेदार का बड़े गैंगस्टर की साठगांठ से शराब तस्करी करने की सूचना एसवीयू को भी है। एक दल के जिलास्तरीय नेता की शराब तस्करों से साठगांठ को लेकर दल के कार्यकर्ताओं में अंदरूनी खींचतान व विरोध की राजनीति भी इन दिनों चर्चा में है। 

Find Us on Facebook

Trending News